डोनाल्ड ट्रंप का दावा- मैं नहीं होता तो 14 मिनट में तबाह हो जाता हांगकांग


अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दावा किया कि उन्होंने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को लोकतंत्र समर्थक आंदोलन को कुचलने के लिए सैनिकों को भेजने पर रोकने से मना करके हांगकांग को तबाह होने से बचा लिया. ट्रंप ने कहा कि अगर मैं नहीं होता तो 14 मिनट में हांगकांग को तबाह कर दिया जाता.

दरअसल, अमेरिकी सीनेट में हांगकांग लोकतंत्र समर्थकों के लिए बिल पेश किया गया था. इस बिल पर बात करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि मैं आपसे कहूंगा कि हमें हांगकांग के साथ खड़ा होना है, लेकिन मैं राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ भी खड़ा हूं. वह मेरे मित्र हैं. वह एक अविश्वसनीय आदमी हैं.

डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, 'शी जिनपिंग ने हांगकांग के बाहर लाखों सैनिक तैनात कर रखे हैं, वे अंदर नहीं जा रहे हैं क्योंकि मैंने उनसे कहा कि ऐसा न करें. ऐसा करना आपकी बड़ी भूल होगी. इससे व्यापार सौदे पर बेहद नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा.'

नेट से हांगकांग को लेकर बिल पास

अमेरिकी सीनेट से हांगकांग मानवाधिकार और लोकतंत्र अधिनियम को पारित किया गया. अब राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को बिल पर हस्ताक्षर करना है, जिसके बाद यह कानून बन जाएगा. सीनेटर डिक डर्बिन ने कहा कि हाउस ने बिल को पास कर दिया, अब बारी राष्ट्रपति ट्रंप की है, जो इस पर हस्ताक्षर करें और यह संकेत दें कि अमेरिका, हांगकांग के लोगों के साथ खड़ा है.

क्यों हांगकांग में हो रहा प्रदर्शन

पिछले 6 महीनों से लोकतंत्र समर्थक, हांगकांग सरकार के उस विधेयक का विरोध कर रहे हैं, जिसमें यह प्रावधान था कि यदि कोई व्यक्ति चीन में कोई अपराध करता है या प्रदर्शन करता है तो उसके खिलाफ हांगकांग में नहीं बल्कि चीन में मुकदमा चलाया जाएगा. विरोध प्रदर्शन के बाद हांगकांग सरकार ने यह विधेयक वापस ले लिया है.