बंगाल में भाजपा प्रत्याशी जयप्रकाश मजूमदार पर हमला


बंगाल में नदिया जिले की करीमपुर विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी जयप्रकाश मजूमदार पर पुलिस व अ‌र्द्धसैनिक बलों की मौजूदगी में मतदान के दौरान हमला किया गया गया. आरोप तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लगा है. घियाघाट इलाके में हुई इस घटना के दौरान मजुमदार पर जमकर लात-घूंसे चलाए गए. इसका वीडियो भी वायरल हो रहा है. भाजपा की ओर से घियाघाट थाने में मुख्य आरोपित तारिकुल शेख समेत नौ लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है.

प्राथमिकी में आरोपितों पर भाजपा प्रत्याशी की हत्या की साजिश रचने का भी आरोप लगाया गया है. भाजपा ने चुनाव आयोग से भी मामले में हस्तक्षेप कर तृणमूल के खिलाफ कार्रवाई करने का अनुरोध किया है. आरोपितों में तारिकुल शेख, हबीबुर्रहमान विश्वास, कलामुद्दीन विश्वास, दुखू मालिथा, खुदा बख्श शेख, दीनारुल विश्वास, मसादुल आलम, बंकिम मंडल और हबीब विश्वास शामिल हैं. दूसरी ओर, तृणमूल के नदिया जिला पर्यवेक्षक व मंत्री राजीव बंद्योपाध्याय ने दावा किया कि जयप्रकाश मजुमदार मतदान के दौरान वोटरों को प्रभावित करने की कोशिश कर रहे थे. उसी दौरान झड़प की यह घटना हुई.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, घियाघाट इस्लामपुर प्राथमिक विद्यालय में अनैतिक तरीके से मतदान की जानकारी मिलने पर भाजपा प्रत्याशी वहां पहुंचे थे और बूथ पर मौजूद पीठासीन अधिकारी से बातचीत करने की कोशिश की थी. पीठासीन अधिकारी के पास दो फोन मिलने से वे खासा नाराज हो गए थे. बूथ से सटे एक कमरे में 11 लोग खाना पका रहे थे. मजुमदार ने इसका पुरजोर विरोध किया था.

आरोप है कि बूथ से बाहर निकलने पर स्थानीय तृणमूल नेताओं व कार्यकर्ताओं ने उनपर हमला कर दिया और लात-घूंसों से पीटा और झाडि़यों में फेंक दिया, जिसमें वे बुरी तरह से जख्मी हो गए. भाजपा नेता मुकुल रॉय ने मामले की शिकायत चुनाव आयोग से की है. मुकुल ने जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक की गिरफ्तारी की भी मांग की है.

वहीं, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने इसे तृणमूल की गुंडागर्दी करार देते हुए कहा कि हार बर्दाश्त करने की क्षमता नहीं होने के कारण मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के इशारे पर भाजपा प्रत्याशी पर हमला किया गया. देश व राज्य की जनता सब देख रही है। तृणमूल लाख कोशिश कर ले, भाजपा को हराना उसके बस की बात नहीं है क्योंकि जनता भाजपा के समर्थन में है. दूसरी ओर तृणमूल प्रत्याशी विमलेंदु सिंह रॉय ने सभी आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि जयप्रकाश मजुमदार अपने नाटक के लिए मशहूर हैं.