About Me

header ads

US कोर्ट में पहुंचा इंडिगो का विवाद, इन दो प्रमोटर्स की बढ़ सकती है मुश्किल


दिग्‍गज एयरलाइन इंडिगो के प्रमोटर्स के बीच का विवाद अब US कोर्ट में पहुंच गया है. दरअसल, इंडिगो के को-फाउंडर राहुल भाटिया ने कंपनी के पार्टनर राकेश अग्रवाल और स्‍वतंत्र निदेशक अनुपम खन्‍ना के खिलाफ फ्लोरिडा और मैरीलैंड की कोर्ट में मुकदमा दायर किया है.

इसके जरिए भाटिया ने इंडिगो, आईजीई एंटरप्राइजेज, भाटिया परिवार और गंगवाल के बीच शेयरधारकों के समझौते की जानकारी मांगी है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यूएस कोर्ट में शेयरहोल्‍डर्स के एग्रीमेंट के अलावा गंगवाल से कई जरूरी डॉक्‍युमेंट मांगे जा सकते हैं.

बहरहाल, यह मामला ऐसे समय में आया है जब 15 दिन पहले ही भाटिया ने गंगवाल के खिलाफ लंदन कोर्ट ऑफ इंटरनेशनल आर्बिट्रेशन (LCIA) के समक्ष मध्यस्थता का अनुरोध पेश किया था. इस खबर के बीच इंडिगो की मूल कंपनी इंटरग्लोब एविएशन लि. (आईजीएएल) के शेयर में 1 फीसदी के करीब गिरावट दर्ज की गई है. दोपहर 2 बजे के करीब कंपनी का शेयर 1,723 रुपये के भाव पर था.

बीते जुलाई महीने में इंटरग्लोब एविएशन लि. (आईजीएएल) के प्रमोटर्स राकेश गंगवाल और राहुल भाटिया के बीच विवाद की खबर आई थी. तब कॉरपोरेट गवर्नेंस की खामियों के बारे में सेबी को भेजी शिकायत में प्रमोटर राकेश गंगवाल ने राहुल भाटिया के लेनदेन पर सवाल खड़े किए थे. इसके साथ ही गंगवाल ने भाटिया के अधिकारों के बारे में भी विस्‍तार से बताया था.

गंगवाल के मुताबिक भाटिया के पास इंडिगो में असामान्य अधिकार है जिसके तहत वह छह में से तीन निदेशकों की नियुक्ति कर सकते हैं. इसके अलावा वह एमडी, सीईओ व प्रेसिडेंट की नियुक्ति कर सकते हैं. गंगवाल का आरोप है कि इन अधिकारों का उपयोग उचित ढंग से नहीं किया जा रहा है. यहां बता दें कि इंटरग्लोब एविएशन लि. में गंगवाल और उनसे जुड़े लोगों की करीब 37 प्रतिशत हिस्सेदारी है. वहीं भाटिया समूह की आईजीएएल में करीब 38 फीसदी हिस्सेदारी है.