About Me

header ads

लालू यादव को चलने में दिक्कत, ऑस्टियोआर्थराइटिस के लक्षण फिर उभरे


●RIMS के प्राइवेट वॉर्ड में भर्ती हैं लालू प्रसाद यादव
●फिर उभरे ऑस्टियोआर्थराइटिस (घुटने के गठिया रोग) के लक्षण
●आर्थराइटिस की वजह से लालू यादव को चलने में दिक्कत
●सिर्फ 50 फीसदी काम कर रही है लालू की किडनी

लालू प्रसाद यादव और उनकी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (RJD) में सब कुछ सही नहीं चल रहा. राजनीतिक मोर्चे पर RJD अपनी खोई जमीन दोबारा हासिल करने के लिए जोर लगा रही है. वहीं राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (RIMS) के प्राइवेट वॉर्ड में भर्ती लालू प्रसाद स्वास्थ्य के मोर्चे पर भी बुरा दौर देख रहे हैं. हाइपरटेंशन (HTN),  डायबिटीज़, कार्डियोरेस्पिरेटरी फिटनेस (CRF) की मेडिकल हिस्ट्री वाले लालू की पूर्व में मुंबई में सर्जरी हो चुकी है. उनमें अब फिर ऑस्टियोआर्थराइटिस (घुटने के गठिया रोग) के लक्षण उभर आए हैं. इससे उन्हें चलने में दिक्कत हो रही है.

RIMS में भर्ती होने के बाद से लालू के स्वास्थ्य को डॉ डीके झा देख रहे हैं. डॉ झा का कहना है कि डायबिटीज मरीज को 30 मिनट में कम से कम 3 किलोमीटर चलना चाहिए लेकिन आर्थराइटिस बढ़ने के बाद से लालू एक दिन में 100 से 200 मीटर ही चल पा रहे हैं, उन्हें स्वास्थ्य संबंधी और भी समस्याएं हैं.

डॉ. झा ने इंडिया टुडे को बताया, ‘उनकी किडनी सिर्फ 50% ही सक्रिय है. कुछ महीने पहले प्रोटीन का लीकेज नोट किया गया था. इसीलिए उन्हें प्रोटीन की पूर्ति के लिए चार अंडे रोज दिए जा रहे थे. अन्यथा उनकी डाइट नियंत्रित और सीमित रखी गई है. अगर वे मांसाहारी भोजन की मांग भी करते हैं तो उसकी अनुमति नहीं दी जाती.’

डॉ झा के मुताबिक डायबिटीज के मरीज को चिंता और तनाव से दूर रहना चाहिए. डॉ झा ने बताया कि लालू हमेशा अपनी भावनाएं हमसे छुपाने में कामयाब रहते हैं. देखने में वो चेहरे से सामान्य लगते हैं और कभी किसी निजी मुद्दे पर हमसे बात नहीं करते.

हालांकि RJD में जिस तरह का घटनाक्रम घट रहा है वो पार्टी प्रमुख लालू की चिंताएं कम करने की जगह बढ़ाने वाला ही है. लोकसभा चुनाव में पार्टी का प्रदर्शन बेहद खराब रहा. वहीं लालू के दोनों बेटों में कथित दूरी के किस्से भी आए दिन सुर्खियां बनते रहते हैं. उनके बड़े बेटे तेज प्रताप के वैवाहिक रिश्ते में दरार की खबरें भी आम हैं. झारखंड में RJD दो धड़ों में बंट चुकी है.

चारा घोटाले में लालू की तरह ही दोषसिद्ध डॉ जगन्नाथ मिश्रा का सोमवार को ही निधन हुआ. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ मिश्रा लंबे समय से बीमार थे. डॉ मिश्रा चारा घोटाले से जुड़े कई मामलों में जमानत पर थे. एक मामले में उन पर दोष सिद्ध हुआ था.

ये सारे घटनाक्रम ऐसे हैं जिनका अगर लालू तनाव लेते हैं तो डायबिटीज़ मरीज़ होने की वजह से उनके स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पड़ सकता है.

बिहार के सड़क निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने लालू के बेटों- तेजस्वी और तेज प्रताप के बीच चल कथित मनमुटाव को लेकर RJD पर निशाना साधा है. मंत्री ने कहा, ‘तेजस्वी सत्र चलने के दौरान भी सदन में आने की फिक्र नहीं करते.  आप जैसा बोते हैं वैसा ही काटते हैं. यही RJD के लिए कह सकते हैं. ये सब लालटेन के लिए अच्छे संकेत नहीं है. लालटेन की लौ पहले ही चमक खो चुकी है.’

वहीं RJD ने पार्टी की स्थिति को लेकर खास चिंतित होने से इनकार किया. RJD की झारखंड इकाई के अध्यक्ष अभय सिंह ने पार्टी अध्यक्ष लालू के स्वास्थ्य को लेकर चिंता जताई और उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना व्यक्त की. अभय सिंह ने कहा, ‘पार्टी ने अपने जन्म से ही बहुत उतार-चढ़ाव देखे हैं. ये सही है कि RJD मुश्किल बहाव वाले पानी का सामना कर रही है लेकिन साथ ही ये भी तय है कि पार्टी दोबारा अपने सुनहरे दिनों में लौटेगी. हम धमक के साथ वापसी करेंगे.’