साइकिल से महज 24 घंटे में नाप दिए सात देश, गिनीज वर्ल्‍ड रिकार्ड में दर्ज कराया नाम


दुनिया में आप को तरह-तरह के लोग मिल जाएंगे, जो ऐसे कारनामे करते हैं कि आप सुनकर हैरान हो जाते हैं। कोई दांतों से ट्रक खींचता है तो कोई पैरों से लिखता है। ऐसा ही एक कारनामा किया हंगरी (Hungary) के रहने वाले डेविड कोवारी (David Kovari) ने। इन्होंने साइकिल से मात्र 24 घंटे में सात देशों का सफर तय करके गिनीज वर्ल्‍ड रिकार्ड (Guinness World Records) में अपना नाम दर्ज कराया है।

पांच सौ किलोमीटर की यात्रा
डेविड कोवारी (David Kovari) पांच सौ किलोमीटर की इस यात्रा में पोलैंड से होते हुए चेक रिपब्लिक, स्लोवाकिया, ऑस्ट्रिया, हंगरी, स्लोवेनिया और क्रोएशिया पहुंचे। डेविड ने अपना सफर पोलैंड से शुरू किया और चेक रिपब्लिक, स्लोवाकिया, ऑस्ट्रिया, हंगरी, स्लोवेनिया और क्रोएशिया पहुंचकर नया कीर्तिमान बनाया। बताया जाता है कि डेविड कोवारी ने अपनी यात्रा शुरू करने से पहले बनाए गए रिकॉर्डों की जानकारी ली। फिर नया रिकार्ड बनाने का संकल्‍प लेकर यात्रा शुरू की।  

कुछ नया करने की ठानी 
दरअसल, डेविड कोवारी ने मास्‍टर्स की डिग्री लेने के बाद पढ़ाई लिखाई से इतर कुछ नया करने का मन बनाया। उन्‍होंने सोचा कि कुछ ऐसा करना चाहिए जिससे उन्‍हें आत्मिक खुशी मिले और कम समय में ज्यादा देश घूमने का रिकॉर्ड बनाने की बात सोची। उनका कहना है कि रिकॉर्ड बनने से मिली रकम का इस्तेमाल वह लोक कल्‍याण के लिए करेंगे। 

इन्‍होंने भी बनाए हैं अनोखे रिकॉर्ड 
इससे पहले यह रिकार्ड जर्मनी के माइकल मॉल के नाम था। माइकल मॉल ने साल 2016 में 24 घंटे में इटली, स्विट्जरलैंड, लिचेस्टेनस्टीन, ऑस्टिया, जर्मनी और फ्रांस का सफर तय किया था। इनके पहले साल 2013 में ग्लेन बर्मिस्टर ने 24 घंटे में पूर्वी यूरोप के चार देशों (चेक रिपब्लिक, ऑस्ट्रिया, स्लोवाकिया और हंगरी) घूमकर विश्‍व रिकॉर्ड बनाया था। ग्लेन के बाद कार्स्टेन कोहलर ऐसे शख्‍स थे जिन्‍होंने पांच देशों बेल्जियम, नीदरलैंड्स, जर्मनी, लग्जमबर्ग और फ्रांस का सफर तय कर रिकॉर्ड बनाया था।

क्‍या है गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड 
नवंबर 1951 में  ह्यूज बीवर, जो गिनीज ब्रेवरीज नाम की कंपनी के निदेशक थे, सबसे पहले उनके मन में यह विचार आया था कि दुनिया में एक ऐसी किताब होनी चाहिये जिसमें विश्‍व रिकार्डों से जुड़ी बातें शामिल हों। गिनीज विश्‍व रिकार्ड की शुरुआत साल 1958 से हुई थी। यह एक तरह की रिकार्ड बुक है जिसे हर साल संपादित किया जाता है। हर साल इसमें नए रिकॉर्ड शामिल किए जाते हैं। इसमें इंसानों के द्वारा बनाए गए अनोखे रिकॉर्ड, प्राकृतिक रिकार्ड शामिल किए जाते हैं। मौजूदा वक्‍त में यह किताब खुद में एक रिकार्ड बन गई है। इसने बेस्‍ट सेलिंग कॉपीराइटेड बुक ऑफ ऑल टाइम का दर्जा हासिल किया है।