Wednesday, October 21, 2015

हतोत्साहित करने वाली है भारत की प्रतिक्रिया : शरीफ

 वाशिंगटन  : कश्मीर मसले को भारत और पाकिस्तान के बीच फसाद की जड़ बताते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने आज कहा कि द्विपक्षीय संबंधों में सुधार की इस्लामाबाद की इच्छा पर नयी दिल्ली की प्रतिक्रिया हतोत्साहित करने वाली रही है। जियो टीवी ने शरीफ के हवाले से कहा कि द्विपक्षीय संबंधों की इच्छा को लेकर नयी दिल्ली की प्रतिक्रिया हतोत्साहित करने वाली है। शरीफ ने अमेरिका की चार दिवसीय यात्रा पर यहां पहुंचने के बाद पाकिस्तानी अमेरिकियों को संबोधित करते हुए यह बात कही। शरीफ ने कहा कि दोनों पड़ोसी देशों के बीच झगड़े की मुख्य वजह कश्मीर मसला है और इलाके में शांति और स्थिरता के लिए इसे सुलझाना होगा।

इससे पहले एंड्रयूज एयरफोर्स बेस पर अमेरिका के सहायक विदेश मंत्री पीटर सेल्फ्रिज ने शरीफ की अगवानी की और अमेरिका के सशस्त्र बलों ने उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया। इस यात्रा के दौरान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री 22 अक्तूबर को अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा के साथ द्विपक्षीय हित के कई मुद्दों पर चर्चा करने के अलावा उपराष्ट्रपति जो बाइडेन और कैबिनेट के कई सदस्यों के साथ भी चर्चा करेंगे। शरीफ अमेरिकी सीनेट और हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स के सदस्यों के अलावा अमेरिका के वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों से भी बातचीत करेंगे।


व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जोश अर्नेस्ट ने कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति को इस इलाके में अतिवादी बलों से निपटने के लिए दोनों देशों के सुरक्षाबलों के बीच संबंध मजबूत होने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति उम्मीद करते हैं कि हमारे साझा हितों के आधार पर दोनों देशों के बीच संबंधों को मजबूत करने के लिए काम किया जाएगा ताकि विश्व के इस इलाके में अतिवादी बलों से निपटा जा सके। अर्नेस्ट ने कहा कि मुझे पूरा भरोसा है कि राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री शरीफ के साथ अपनी बैठक में इस बात पर चर्चा करेंगे कि पाकिस्तान हम दोनों देशों के बीच संबंधों को मजबूत करने और सुरक्षा हितों को आगे बढ़ाने के लिए क्या कर सकता है।