दिलीप घोष ने कहा- चुनाव बाद हिंसा में मारे गए कार्यकर्ताओं को दुर्गापूजा में और अधिक याद करते हैं

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व सांसद दिलीप घोष ने कहा कि पार्टी अपने उन कार्यकर्ताओं को दुर्गा पूजा के दौरान और भी ज्यादा याद करती है, जो बंगाल में चुनाव बाद हिंसा में मारे गए थे और पार्टी हमेशा उनके परिवार के सदस्यों के साथ खड़ी रहेगी। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष घोष ने दावा किया कि दो मई को विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा भाजपा के कम से कम 53 कार्यकर्ताओं की बेरहमी से हत्या कर दी गई। उन्होंने कहा कि जान गंवाने वाले पार्टी के कई सदस्यों ने अपने-अपने क्षेत्र में दुर्गा पूजा समारोह में सक्रिय रूप से भाग लिया था।

घोष ने भाजपा कार्यकर्ता अभिजीत सरकार के इलाके में एक दुर्गा पूजा में शामिल हुए, जो दो मई को कोलकाता के बेलघाटा इलाके में मारे गए थे। घोष ने कहा कि जान गंवाने वाले पार्टी कार्यकर्ता ने पिछले साल भी पूजा में भाग लिया था। उन्होंने कहा कि मैं उनके परिवार और दोस्तों के साथ रहने के लिए उनके पाड़ा की पूजा में आया। मैंने उन्हें आश्वासन दिया है कि अभिजीत को न्याय मिलेगा।

नेता प्रतिपक्ष सुवेंदु अधिकारी ने शनिवार को वहां का दौरा किया था और बाद में ट्वीट किया था कि कोलकाता के बेलघाटा में इस दुर्गा पूजा के दौरान दुखी हूं। आयोजकों ने चुनाव बाद हिंसा में जान गंवाने वाले स्थानीय लड़के अभिजीत सरकार की स्मृति में कोई भी खुशी प्रकट करने वाली ध्वनि बजाने से परहेज किया। ढोल भी शांत है।

हाल ही में भवानीपुर उपचुनाव में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से हारने वाली भाजपा नेता प्रियंका टिबड़ेवाल भी पूजा स्थल आयीं और कहा कि पार्टी सरकार के परिवार का समर्थन करना जारी रखेगी। तृणमूल के एक नेता ने कहा कि राज्य की सत्ताधारी पार्टी दुर्गा पूजा पर राजनीति नहीं करना चाहती।