उत्तर बंगाल में बच्चों में अज्ञात बुखार का कहर जारी, सुवेंदु ने स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिख केंद्रीय टीम भेजने की मांग की


कोरोना महामारी के बीच उत्तर बंगाल में बच्चों में अज्ञात बुखार के मामले बढ़ते जा रहे हैं। इस अज्ञात बुखार से अब तक छह बच्चों की मौत हो चुकी है और 1100 से ज्यादा बच्चे बीमार हैं। इससे उत्तर बंगाल के विभिन्न जिलों में दहशत का माहौल है। अज्ञात बुखार के बढ़ते कहर के बीच बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता व भाजपा विधायक सुवेंदु अधिकारी ने गुरुवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिखकर तुरंत एक केंद्रीय टीम भेजने की फरियाद की है।

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया को लिखे पत्र में सुवेंदु ने कहा है कि बंगाल सरकार की इसमें कोई दिलचस्पी नहीं है, क्योंकि वे भवानीपुर उपचुनाव में व्यस्त हैं। इसीलिए बच्चों को बचाने के लिए केंद्र हस्तक्षेप करें और तत्काल एक टीम भेजी जाए। सुवेंदु ने इस पत्र की प्रति ट्विटर पर साझा करते हुए लिखा, बंगाल प्रशासन भवानीपुर उपचुनाव में व्यस्त नजर आ रहा है, क्योंकि यह उनकी प्राथमिकता है। इसलिए मैं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से आग्रह करता हूं कि हमारे बच्चों को बचाने के लिए राज्य स्वास्थ्य विभाग की सहायता करें और मदद के लिए तुरंत विशेषज्ञों की एक केंद्रीय टीम को बंगाल भेजा जाए।

बंगाल सरकार से भी ध्यान देने की अपील की

इसके साथ ही उन्होंने बंगाल सरकार से भी इस तरफ ध्यान देने की अपील की है। सुवेंदु ने लिखा-

मैं बंगाल के स्वास्थ्य सचिव से आग्रह करता हूं कि कृपया उत्तर बंगाल से आ रही चिंताजनक खबरों पर ध्यान दें, जहां 750 से अधिक बच्चों को तेज बुखार और फ्लू जैसे लक्षणों के लिए अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। कृपया जल्द से जल्द उपाय शुरू करें क्योंकि छह शिशुओं की पहले ही मृत्यु हो चुकी है। बता दें कि अज्ञात बुखार के मरीजों की बढ़ती संख्या के चलते उत्तर बंगाल के विभिन्न जिलों में स्वास्थ्य व्यवस्था भी पूरी तरह से चरमरा गई है। अस्पतालों में लगातार मरीजों की भीड़ बढ़ रही है। अकेले मालदा जिले में 200 बच्चों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।