West Bengal polls: गृह मंत्रालय ने ममता सरकार को लिखी चिट्ठी, कहा- 61 भाजपा नेताओं को ज्यादा सुरक्षा दें

गृह मंत्रालय ने बंगाल सरकार को चिट्ठी लिखकर भाजपा के 61 नेताओं को और ज्यादा सुरक्षा मुहैया कराये जाने को कहा है। हालांकि सभी भाजपा नेताओं को केंद्र सरकार ने सुरक्षा दे रखी है, लेकिन गृह मंत्रालय ने 61 भाजपा नेताओं की सूची भी पश्चिम बंगाल सरकार को भेजी है। गृह मंत्रालय ने गत 31 अगस्त को पश्चिम बंगाल सरकार को चिट्ठी लिखकर कहा कि राज्य में भाजपा के 61 नेताओं को केंद्रीय सुरक्षा दी गई है। इसलिए राज्य सरकार भी वीआईपी सुरक्षा के प्रोटोकॉल के हिसाब से सुरक्षा राज्य में मुहैया कराये। गृह मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल सरकार को जो सूची दी है, उसमें मिठुन चक्रवर्ती और भाजपा सांसद अर्जुन सिंह सहित 61 लोग शामिल हैं।

गौरतलब है कि राज्य के बैरकपुर से भाजपा सांसद अर्जुन सिंह के उत्तर 24 परगना स्थित आवास पर बुधवार तड़के देसी बम से हमला किया गया। वहीं दिन में नदिया के राणाघाट से पार्टी सांसद जगन्नाथ सरकार को घेरकर बदमाशों ने उनपर हमला किया। दोनों ही घटनाओं में हमले का आरोप तृणमूल कांग्रेस के बदमाशों पर लगा है। जबकि टीएमसी के प्रवक्ता कुणाल घोष ने इससे साफ इन्कार किया है। उधर, बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने इन घटनाओं पर गंभीर चिंता जताई है और कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि तड़के तीन बजे अर्जुन सिंह के आवास पर हुए हमले में कुछ लोग घायल हुए हैं। बम फेंके जाने के बाद जोरदार विस्फोट हुआ, जिससे सिंह के आवास का द्वार क्षतिग्रस्त हो गया है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। हमले के समय सांसद सिंह दिल्ली में थे, लेकिन वारदात की जानकारी मिलने पर वह उत्तर 24 परगना लौट आए। उन्होंने हमले के पीछे सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के लोगों का हाथ होने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि भवानीपुर विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव को लेकर उनकी पार्टी ने उन्हें पर्यवेक्षक बनाया है, जिस कारण ही यह हमला किया गया। उन्होंने इसकी एनआइए से जांच की मांग की।

वहीं, दूसरी ओर बुधवार को एक और भाजपा सांसद जगन्नाथ सरकार पर हमले की घटना सामने आई है। भाजपा का कहना है कि सुरक्षाकर्मियों की वजह से उन्हें कोई नुकसान नहीं पहुंचा। इस घटना में एक स्थानीय भाजपा नेता के घायल होने की खबर है। यह घटना नदिया जिले के शांतिपुर थाना अंतर्गत बेलघरिया दो नंबर पंचायत में घटी। भाजपा ने पंचायत प्रमुख के खिलाफ बुधवार को अविश्वास प्रस्ताव लाया था।

उसी दौरान जब स्थानीय भाजपा सांसद जगन्नाथ सरकार उक्त पंचायत कार्यालय पहुंचे तो आरोप है कि तृणमूल समर्थकों ने उन्हें घेर लिया और उनके खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। इस दौरान उनके साथ धक्का-मुक्की व उनको लक्ष्य कर हमला किए जाने का आरोप है। इधर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा है कि बंगाल में कानून- व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है। पुलिस पूरी तरह से खामोश है। ममता बनर्जी के शासन में बंगाल में गुंडाराज जारी है।