Cryptocurrency भारत में चलेगी या नहीं, जानिए सरकार की क्‍या है मंशा

Cryptocurrency में करते हैं निवेश तो आपके लिए खास खबर है। Finance Minister Nirmala Sitharaman क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) से जुड़े Bill को लेकर मंत्रिमंडल की मंजूरी का इंतजार कर रही हैं। प्रस्तावित Bill उनके पास है। डिजिटल मुद्राओं (Digital Currency) से जुड़े मुद्दों का अध्ययन करने और विशिष्ट कार्यों का प्रस्ताव पेश करने के लिए आर्थिक मामलों के सचिव की अध्यक्षता में गठित क्रिप्टोकरेंसी संबंधित अंतर-मंत्रालयी पैनल ने अपनी रिपोर्ट पहले ही जमा कर दी है।

रिपोर्ट में सिफारिश की गई है कि भारत में सरकार द्वारा जारी किसी भी डिजिटल मुद्रा को छोड़कर, अन्य सभी निजी क्रिप्टोकरेंसी को प्रतिबंधित कर दिया जाए। वित्त मंत्री ने कहा कि Cryptocurrency Bill पर मंत्रिमंडल का नोट तैयार है। मैं मंत्रिमंडल से इसे मंजूरी देने का इंतजार कर रही हूं। RBI ने सरकार को बाजार में प्रचलित क्रिप्टोकरेंसी से जुड़ी अपनी चिंताओं से अवगत कराया है।

वोडाफोन आइडिया लिमिटेड (VIL) बंदी के कगार पर पहुंचने से रोकने के लिए सरकार द्वारा कोई समाधान निकालने की उम्मीदों के बीच सीतारमण ने कहा कि कई अधिकारी एक-दूसरे से बात कर रहे हैं, लेकिन उनके पास तक अभी कुछ नहीं आया है। सीतारमण ने कहा कि कई अधिकारी आपस में बात कर रहे हैं। लेकिन मेरे पास कुछ नहीं आया है। उन्होंने यह उल्लेख नहीं किया कि बातचीत सरकारी अधिकारियों के बीच हो रही थी या ऋणदाता वोडाफोन आइडिया से बात कर रहे थे।

सीतारमण ने कहा कि चालू वित्त वर्ष के दौरान उन्हें मुद्रास्फीति 2 से 6 प्रतिशत के तय दायरे में रहने की उम्मीद है। रिजर्व बैंक को खुदरा मुद्रास्फीति 4 प्रतिशत पर बनाए रखने को कहा गया है। इसके साथ ही इसमें ऊपर- नीचे दो प्रतिशत तक घटबढ़ की गुंजाइश भी रखी गई है। सीतारमण ने आने वाले महीनों के दौरान राजस्व प्राप्ति भी बेहतर रहने का भरोसा जताया है। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ माह के दौरान GST और प्रत्यक्ष कर दोनों ही में सुधार आया है। अर्थव्यवस्था में मांग बढ़ने के बारे में उन्होंने कहा कि बाजार में तरलता अच्छी बनी हुई है और आगामी त्योहारी मौसम में ऋण वृद्धि बढ़ने की उम्मीद है।