झारखंड में हेमंत सरकार गिराने की बड़ी साजिश, विधायक खरीद-फरोख्‍त मामले में सिवान पहुंची रांची की पुलिस

सिवान जिले के एक सामान्‍य गांव में झारखंड पुलिस का छापा पड़ने के बाद लोग हैरान हैं। लोगों की हैरानी पुलिस के छापे से नहीं, बल्कि उस मामले से है, जिसको लेकर यहां रांची की पुलिस पहुंची थी। गांव के एक शख्‍स को झारखंड सरकार को अस्थिर करने की कोशिश के मामले में पकड़ा गया है। आरोप है कि यह शख्‍स झारखंड में विधायकों की खरीद- फरोख्‍त में शामिल था। इस मामले में रांची के एक होटल से दो लाख नकद सहित गिरफ्तार भगवानपुर प्रखंड के बिठुना गांव निवासी अमित  एक साधारण परिवार से ताल्लुक रखता है। अमित के पैतृक गांव स्थित घर को देखने से प्रतीत होता कि वह एक साधारण परिवार से आता है। इस घटना की सूचना मिलते ही ग्रामीण अचंभित दिखे।

झारखंड के बोकारो में रहता है अमित

अमित अपने माता पिता के साथ लंबे समय से झारखंड के बोकारो में रहता है। उसके पिता मदन सिंह का बोकारो स्थित द्वांदी बाग़ बाजार में होटल का व्यवसाय है। उसका पूरा परिवार बोकारो ही रहता है। अमित के साथ उसकी माता सबिता देवी, पिता मदन सिंह, पत्नी सिंकू देवी तथा छोटा भाई आशीष कुमार रहते हैं। गांव वालों के अनुसार उसकी शिक्षा भी मैट्रिक स्तर की है। ग्रामीणों ने बताया कि अमित ने बोकारो में रहकर कुछ बड़े नेताओं से संबंध बनाने में सफलता हासिल की है।

अमित के चाचा ने कही ये बात

गिरफ्तार अमित कुमार के पिता चार भाई हैं। बाकी भाइयों का परिवार गांव में रहता है। अमित के चाचा हरेंद्र सिंह, जितेंद्र सिंह तथा नागेंद्र सिंह ने बताया कि शुक्रवार की रात्रि करीब साढ़े तीन बजे अमित को बोकारो स्थित आवास से पुलिस उठाकर रांची ले गई है। वहां स्थानीय लोगों के साजिश के तहत उसे इस मामले में एक होटल से गिरफ्तार दिखाया गया है। इन सब के बावजूद अमित की गिरफ्तारी से गांव में तरह तरह की चर्चाओं का बाजार गर्म है।