ड्रोन हमले के बाद पीएम नरेंद्र मोदी की उच्च स्तरीय बैठक, रक्षा क्षेत्र में भविष्य की चुनौतियों पर चर्चा

अतिसंवेदनशील जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर ड्रोन से हमला किए जाने के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और एनएसए अजीत डोभाल के साथ उच्च स्तरीय बैठक की। इसमें रक्षा क्षेत्र में भविष्य की चुनौतियों पर चर्चा की और हमारे बलों को आधुनिक उपकरणों से लैस किया जाएगा।

ज्ञात हो कि जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर हुए ड्रोन हमले और बाद में आसपास के कुछ इलाकों में दिखे ड्रोन से खतरे की घंटी बजती हुई दिख रही है। इस पूरी बेल्ट में सेना के कई बेस, स्टेशन और कैंट इलाके हैं। इनमें से पहले भी कई को पाक समर्थित आतंकियों ने निशाना बनाया है।

हालांकि अब जिस तरह ड्रोन हमला किया गया है, वो आतंकियों द्वारा प्रयोग की जाने वाली तकनीक में बड़े स्तर पर बदलाव को दिखाता है, जिसको सीमा पार से समर्थन है। इससे उन्हें किसी आत्मघाती हमले के बदलने का दूसरा ऑप्शन है।

संयुक्त राष्ट्र सभा में उठा ड्रोन हमले का मामला

जम्मू-कश्मीर में आर्मी बेस पर ड्रोन हमले की साजिश का मसला भारत ने संयुक्त राष्ट्र सभा में भी जोर-शोर से उठाया है। भारत ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में कहा कि सामरिक और वाणिज्यिक संपत्तियों के खिलाफ आतंकवादी गतिविधियों के लिए हथियारबंद ड्रोन के इस्तेमाल की संभावना पर वैश्विक समुदाय को गंभीरता से ध्यान देने की जरूरत है।