झारखंड के भीम बराज से सोन में छोड़ा गया डेढ़ लाख क्‍यूसेक पानी, बिहार के तटीय क्षेत्र में अलर्ट

यास चक्रवात तूफान (YAAS Cyclone) के कारण हो रही वर्षा के कारण सोन नदी उफान पर है।  झारखंड के मोहम्मदगंज स्थित भीम बराज से शुक्रवार को  डेढ़ लाख  क्यूसेक से ज्यादा पानी सोन नदी में छोड़ा गया है। ससे स्थिति और गंभीर होने की संभावना को देखते हुए तटीय इलाके के लोगों को अलर्ट कर दिया गया है। वहीं सोन डीला पर रहने वाले लोगों को वहां से हटकर सुरक्षित स्थान पर जाने का निर्देश दिया गया है। इंद्रपुरी बराज पर जल संसाधन विभाग के अधिकारी चौबीस घंटे निगरानी कर रहे हैं।

स्थिति से निपटने के लिए विभाग अलर्ट 

जल संसाधन विभाग (Water Resources Department) के मोनेटरिंग सेल के कार्यपालक  अभियंता सुजीत कुमार के अनुसार यास चक्रवात से निपटने को विभाग अलर्ट है। इंद्रपुरी बराज (Indrapuri Dam) पर 24 घंटे निगरानी के लिए अभियंताओं को तैनात किया गया है । शुक्रवार  को झारखंड के मोहम्मदगंज स्थित भीम बराज से डेढ़ लाख क्यूसेक पानी सोन नदी में छोड़ा गया है। भीम बराज के 40 में से 35 फाटकों को खोल दिया गया है । यह पानी इंद्रपुरी बराज पर आज देर शाम तक पहुंच जाएगा।

रिहंद जलाशय से भी छोड़ा गया है पानी 

सुजीत कुमार ने बताया कि इंद्रपुरी बराज पर ऊपरी जल ग्रहण क्षेत्र से 15840 क्यूसेक पानी पहुंचा है ।बराज का लेवल मेंटेन करने के बाद इस पानी को सोन नदी में बहा दिया गया है । वही उत्तर प्रदेश के रिहन्द जलाशय ने भी 5188 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। उन्होंने बताया कि सोन नहर कमांड क्षेत्र में  हो रही भारी वर्षा के बाद नहरों में पानी की आपूर्ति  बंद कर दी गई है । उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन को इसकी सूचना दे दी गई है। डेहरी के एसडीएम सुनील कुमार सिंह ने बताया कि सोन तटीय इलाके के  लोगो को माइकिंग कर अलर्ट किया गया है ।अनुमंडल के सभी बीडीओ को सोन डीला पर खेती करने वाले लोगो को वहां से हटाने का निर्देश दिया गया है ।