तीसरा चरण: 18 से 45 आयु वर्ग के टीकाकरण 1 मई से कराने को लेकर कई राज्यों ने किए हाथ खड़े, जानिए किस राज्य में कैसी है तैयारी

कोरोना संक्रमण की तेज रफ्तार के बीच देश में एक मई से 18 साल से अधिक उम्र के लोगों का टीकाकरण शुरू होना है। इसके लिए पंजीकरण तेजी से हो रहा है, लेकिन टीकाकरण शुरू करने पर राज्यों में संशय की स्थिति दिख रही है। अधिकांश राज्यों में वैक्सीन की कमी है जबकि टीकाकरण केंद्रों और स्टाफ की उपलब्धता पर भी स्थिति बहुत साफ नहीं है। 

झारखंड: सरकार तैयार, वैक्सीन का इंतजार

-राज्य में 18 से 45 साल के लोगों की संख्या एक करोड़ 57 लाख है।

- सरकारप वैक्सीन लगाने के लिए तैयार है, लेकिन वैक्सीन उपलब्ध नहीं होने के कारण एक मई से टीकाकरण शुरू होने पर संशय है।

-सीरम इंस्टीट्यूट तथा भारत बायोटेक को 25-25 लाख डोज के आर्डर दिए गए हैं, लेकिन कंपनियां मई के अंतिम सप्ताह में वैक्सीन देने की बात कह रही हैं।

-राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को पत्र भेजकर वैक्सीन की दर अलग-अलग होने पर आपत्ति की है। वैक्सीन उपलब्ध कराने की मांग भी की है।

बिहार: पता नहीं कब से लगेगी वैक्सीन

-18 से 45 वर्ष के लोगों की संख्या पांच करोड़ 47 लाख है।

- वैक्सीन लगाने की पूरी तैयारी है, लेकिन एक मई से ऐसा नहीं हो पाएगा। कब होगा, यह भी स्पष्ट नहीं है।

- कोविशील्ड की एक करोड़ डोज के लिए आर्डर दिया गया है। अभी जानकारी नहीं मिली है कि कब और कितनी डोज मिलेंगी।

-एक महीने में मिलने वाली डोज की संख्या के आधार पर राज्य सरकार टीकाकरण की संख्या निर्धारित कर लेगी। आठ हजार टीकाकरण केंद्र बनाने की तैयारी है।

मध्यप्रदेश: तय समय से टीकाकरण नहीं 

-18 से 45 साल के लोगों की संख्या करीब तीन करोड़ 35 लाख है। एक दिन में डेढ़ लाख वैक्सीन लगाने का लक्ष्य है।

-गुरुवार शाम प्रदेश के अधिकारियों की एक मीटिंग हुई। अब टीकाकरण पांच मई से शुरू किए जाने की संभावना है।

- 45 लाख कोविशील्ड खरीदने के आर्डर 25 अप्रैल को दिए गए, लेकिन जल्दी आपूर्ति की संभावना नहीं है। प्रदेश के पास छह लाख डोज स्टोर में हैं।

उत्तराखंड: टीकाकरण की तिथि तय नहीं

-प्रदेश में 18 से 45 साल की उम्र के तकरीबन 50 लाख नागरिक हैं।

-सरकार ने इस आयु वर्ग को मुफ्त वैक्सीन लगाने का निर्णय लिया है। इसके लिए मुख्यमंत्री राहत कोष से 450 करोड़ रुपये का प्रविधान किया गया है।

-केंद्र तय किए जा रहे हैं। वैक्सीन न होने के कारण अभी टीकाकरण शुरू होने की तिथि नियत नहीं है।

-वैक्सीन का आर्डर नहीं दिया गया है। भारत बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट को मेल भेजी गई, लेकिन जवाब नहीं मिला है।

हिमाचल: तीन-चार सप्ताह में शुरू होगा टीकाकरण

-प्रदेश में 18 से 45 साल की उम्र के 32.5 लाख नागरिकों के लिए टीकाकरण तीन से चार सप्ताह बाद शुरू होगा।

-अभी वैक्सीन नहीं मिली है। 24 अप्रैल को आर्डर दिया गया था। सीरम इंस्टीट्यूट ने तीन से चार सप्ताह में वैक्सीन देने को कहा है।

-हिमाचल सरकार ने केंद्र से आग्रह किया था कि वैक्सीन का पूरा खर्च केंद्र उठा ले।

छत्तीसगढ़: तैयारी का दावा, केंद्र से सवाल

-18 से 45 साल की उम्र के लोगों की संख्या करीब एक करोड़ 35 लाख है।

- दावा है कि टीकाकरण का रोड मैप तैयार है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि 30 अप्रैल तक भी वैक्सीन मिल जाती है तो एक मई से टीकाकरण शुरू हो जाएगा।

-दोनों कंपनियों को 25-25 लाख डोज का आर्डर दिया गया है। भारत बायोटेक ने बुधवार की शाम को ई-मेल भेजकर तीन महीने का वक्त मांगा है।

-मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री से वैक्सीन की कीमत, उत्पादन क्षमता, आपूíत व तैयारी को लेकर सवाल किया है। प्रधानमंत्री की मुख्यमंत्रियों के साथ हुई वर्चुअल बैठक में भी उन्होंने बात रखी थी।

पंजाब: बजट है लेकिन तैयारी नहीं

-18 से 45 साल की उम्र के लोगों की संख्या एक करोड़ 32 लाख है।

-इस आयु वर्ग के लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए राज्य सरकार अभी तैयार नहीं है।

-इसके लिए 1,080 करोड़ रुपये का बजट रखा गया है। 30 लाख डोज का आर्डर दिया गया है, लेकिन कंपनी ने आपूर्ति की तारीख नहीं बताई है।