भाकपा माओवादी के सब जोनल कमांडर संजय सिंह भोक्ता ने किया आत्मसमर्पण


कहा सब्ज बाग दिखाकर बनाया गया नक्सली मुख्य धारा से जुड़ कर चाहता हूं जीना 
मगध प्रक्षेत्र आईजी व सीाआरपीएफ के आईजी के समक्ष किया आत्मसमर्पण
सीआरपीएफ 159 बटालियन के कैम्पस में हुआ आत्मसमर्पण समारोह

युवा शक्ति संवाददाता

गया। सीआरपीएफ 159 बटालियन कैंपस में सोमवार को सब जोनल कमांडर संजय सिंह भोक्ता उर्फ राकेश ने आत्मसमर्पण किया। कैंपस में आयोजित आत्म समर्पण समारोह में मगध प्रक्षेत्र के आई जी अमित लोढा व आईजी सीआरपीएफ बिहार सेक्टर पटना हेमंत प्रियदर्शी के समक्ष आत्म समर्पण किया।

इस दौरान  अधिकारियों ने पुष्पगुच्छ देकर उन्हे सम्मानित किया। गया औरंगाबाद में पांच नक्सली कांडों में  शामिल संजय सिंह भोक्ता उर्फ राकेश पिछले चार साल से अधिक समय से नक्सली संगठन में जुड़ा था और वर्तमान में सब जोनल के पद पर रहकर संगठन देख रहा था। 
 
सब्ज बाग दिखाकर नक्सल बनाया लेकिन किया शोषण 
आत्मसमर्पण के बाद पत्रकारों से बात करते हुये सब जोनल कमांडर ने बताया कि उसे चार साल पहले सब्ज बाग दिखाया गया था कि संगठन में जुड़ने के बाद घर बना दिया जायेगा। तुम्हारे परिवार को किसी तरह के समस्या नही होगी हम सभी देखेगें।लेकिन समय के साथ उसे व उसके परिवार दोनो का कष्ट बढता गया। तब मुख्य धारा से जुड़ने को सोचा और सीआरपीएफ व कोबरा बटालियन के अधिकारियो  से संपर्क कर अपनी इच्छा जतायी और लोगों ने मुख्य धारा में लाने के लिए उन्हे सुरक्षित उस गंदगी से बाहर निकाला।


आने वाले दिनों में मगध प्रक्षेत्र से नक्सल का पूर्ण रूप से होगा खात्मा 
इस मौके पर मगध प्रक्षेत्र के आईजी अमित लोढा ने कहा कि जिस तरह बिहार पुलिस व सीआरपीएफ व ब कोबरा के लोग मिलकर काम कर रहे है।वह दिन दूर नही जब मगध प्रक्षेत्र से नक्सलपूरी तरह समाप्त हो जायेगा।वही सीआरपीएफ के आई हेमंत प्रियदर्शी ने कहा कि युवा जो समाज से गलत रास्ते की ओर भटक गये है।

वह जल्द ही नक्सल रूपी कीचड़ से बाहर निकले क्योकि इससे ना ही आपका और ना ही आपके परिवार का भला हो रहा है। जीवन छुप कर बिताने के लिए नही अपितु परिवार के साथ मुख्य धारा में जुड़कर जीना का है। उन्होने कहा कि आत्म समर्पण करने वाले युवाओं के परिवार की भी चिंता हमे है और हम उनके लिए भी कार्य कर रही है साथ सरकार की ओर से नियमत: जो भी कुछ मिलता है वह सभी चीज उपलब्ध कराकर मुख्य धारा में भटके हुये युवाअ‍ों को जोड़ना मुख्य उद्देश्य है। उक्त मौके पर एसएसपी आदित्य कुमार, कमांडेन्ट सीआरपीएफ 159 बटालियन नीतीश कुमार, कमांडेन्ट 205 कोबरा दिलीप कुमार, आदि लोग उपस्थित थे।