पंचायत चुनाव की घोषणा से पहले दावेदारों ने शुरू किया डिजिटल और म्यूजिकल प्रचार, मांग रहे वोट

वर्ष 2016 में बैलेट पेपर पर पंचायत चुनाव कराने वाले राज्य निर्वाचन आयोग ने डिजिटल माध्यम अपनाते हुए इस बार ईवीएम के द्वारा पंचायत चुनाव कराने की तैयारी कर रही है। आगामी पंचायत चुनाव के अलग-अलग पदों के विभिन्न दावेदारों ने भी निर्वाचन आयोग से कदम ताल करते हुए अभी से ही चुनाव प्रचार के लिए डिजिटल और म्यूजिकल माध्यम को अपनाना शुरू कर दिया है।  

गया जिले के गुरारू प्रखंड में डिजिटल और म्यूजिकल माध्यम से हो  रहे चुनाव प्रचार  आम लोगों को दिखना भी शुरू हो गया है। व्हाट्सएप, फेसबुक, इंस्टाग्राम पोस्ट के साथ-साथ यूट्यूब पर म्यूजिकल प्रचार यहां चुनावी सरगर्मी को तेज कर रहा है। यात्री वाहनों में भी कई दावेदारों का म्यूजिकल चुनाव प्रचार से संबंधित संगीत  खूब बजाए जा रहे हैं।

वर्ष 2016 में हुए पंचायत चुनाव में निर्वाचित हुए पंचायत प्रतिनिधियों का कार्यकाल अब कुछ महीने ही शेष है। इसके बाद फिर से पंचायत चुनाव  कराया जाएगा। राज्य निर्वाचन आयोग ने अभी चुनाव की कोई घोषणा नहीं की है । लेकिन प्रशासनिक स्तर पर इसकी तैयारियां शुरू कर दी गई है।

गया जिले के गुरारू प्रखंड में भी आगामी पंचायत चुनाव को लेकर सरगर्मी धीरे-धीरे तेज हो रही है। विभिन्न पंचायतों के अलग-अलग पदों के दावेदारों ने अपने अपने करीबी समर्थकों से संपर्क साध कर पंचायत चुनाव के लिए विचार-विमर्श शुरू कर दिया है। इस बीच कई दावेदार एक कदम आगे बढ़ते हुए अपना चुनाव प्रचार भी शुरू कर चुके हैं चुनाव प्रचार के पहले दौर में इन दावेदारों ने डिजिटल और म्यूजिकल माध्यम को  चुना है। इन माध्यमों को एक दावेदार के द्वारा सुनने के बाद अन्य दावेदारों का रुझान इन माध्यम के तरफ बढ़ रहा है।

ADVERTISEMENT