West Bengal Assembly Election 2021: झारखंड के ईवीएम से पश्चिम बंगाल में होगा चुनाव, युद्धस्तर पर तैयारी

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव-2021 नजदीक आ चला है। मई-जून में चुनाव होना है। हालांकि अभी भारत निर्वाचन आयोग ने तारीखों की घोषणा नहीं की है। लेकिन तैयारी युद्धस्तर पर जारी है। ईवीएम से चुनाव होना है। इसके मद्देनजर पश्चिम बंगाल के पड़ोसी राज्यों के जिलों से ईवीएम मशीनें मंगाई जा रही हैं। चुनाव आयोग के निर्देश पर धनबाद में वेयरहाउस से निकालकर ईवीएम तैयार की जा रही हैं।

उपायुक्त की उपस्थित में खोला गया स्ट्रांग रूम

पश्चिम बंगाल चुनाव के मद्देनजर चुनाव आयोग सक्रिय हो गया है। देश भर से खाली ईवीएम व वीवीपैट बंगाल के लिए भेजे जा रहे हैं। इस संदर्भ में धनबाद जिला प्रशासन को भी यहां से खाली ईवीएम व वीवीपैट भेजने का निर्देश दिया गया। बुधवार को प्रशासन ने स्ट्रांग रूम से खाली ईवीएम व वीवी पैट निकलवाया। इस दौरान उपायुक्त सह जिला निर्वाची पदाधिकारी उमाशंकर सिंह स्वयं पूरे अमले के साथ मौजूद थे। बाघमारा विधायक ढुलू महतो व कांग्रेस नेता व उनके प्रतिद्वंद्वी जलेश्वर महतो भी इस दौरान वहां मौजूद रहे। इस दौरान 237 ईवीएम व वीवीपैट निकाले गए। 

क्यों थी नेताओं की उपस्थिति

बाघमारा चुनाव परिणाम उच्च न्यायालय में विचाराधीन है। जलेश्वर महतो ने इसे चुनौती दी है। लिहाजा बाघमारा चुनाव में इस्तेमाल ईवीएम व वीवीपैट सुरक्षित रखे गए हैं। निर्वाचन आयोग के निर्देश पर ईवीएम व वीवीपैट निकलवाने की प्रक्रिया प्रशासन ने शुरू की तो अफवाह फैली कि बाघमारा के ईवीएम निकलवाए जा रहे हैं। इसका जलेश्वर महतो ने प्रतिवाद भी किया था। लिहाजा दोनों ही नेताओं को भरोसे में लेकर खाली ईवीएम निकलवाए गए।

ADVERTISEMENT