मुर्शिदाबाद में तीसरी बार रोकी गई भाजपा की परिवर्तन रथयात्रा

 

कोलकाताः भाजपा को मुर्शिदाबाद जिले में शुक्रवार को तीसरी बार अपनी परिवर्तन रथ यात्रा को बीच में ही रोकना पड़ा। प्रशासन के आदेश पर पार्टी को ऐसा करना पड़ा है। भाजपा नेताओं ने कहा कि इस संबंध में उन्होंने कई बार पुलिस के अधिकारियों से बात की थी, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। भाजपा ने अप्रैल-मई में होने वाले चुनावों के मद्देनजर 5 रोड शो का ऐलान किया है। इनमें से 4 रोड शो निकाले जा चुके हैं। इन रोड शो के तहत भगवा दल राज्य की सभी 294 सीटों को कवर करने की तैयारी में है। बीजेपी ने विधानसभा चुनाव में कम से कम 200 सीटें जीतने का लक्ष्य तय किया है।  

भाजपा नेताओं ने कहा कि पुलिस ने उन्हें यह कहते हुए रोड शो को आगे ले जाने से रोक दिया कि आगे रास्ते में जाम है। पुलिस ने कहा कि कांग्रेस और लेफ्ट पार्टियों की ओर से 12 घंटे का बंद आयोजित किया गया है। इसके चलते जाम की स्थिति है और आप आगे नहीं जा सकते। हालांकि भाजपा नेताओं का कहना था कि उन्हें आगे ऐसा प्रदर्शन नहीं दिखा।

 भाजपा के मुर्शिदाबाद (उत्तर) इकाई के अध्यक्ष सुजीत दास ने कहा कि  स्थानीय पुलिस को रास्ते के बारे में पता था। उन्होंने हमें रोका और कहा कि कुछ अन्य लोगों ने रास्ते को रोक रखा है। लेकिन हमने ऐसी कोई नाकाबंदी नहीं देखी। बाद में हमें पता चला कि वे कुछ स्थानीय लोग थे, जो शुक्रवार की नमाज अदा करने की तैयारी कर रहे थे। 

बंगाल की मुस्लिम आबादी 2011 की जनगणना के दौरान 27.01% थी, जिसके अब बढ़कर लगभग 30% होने का अनुमान है। सबसे ज्यादा 66.28% जनसंख्या मुर्शिदाबाद जिले में ही है।  शुक्रवार की दोपहर, रोड शो में गाड़ियों ने जंगीपुर से सागरदिघी विधानसभा क्षेत्र की यात्रा की। जहां इन्हें लगभग दो घंटे बाद आगे बढ़ने दिया गया। यहां भी पुलिस और बीजेपी नेताओं के बीच विवाद हुआ। उत्तराखंड के राजेश कुमार सहित भाजपा के नेताओं ने रथ के आगे जाने वाली बस से उतरकर तीन किलोमीटर तक पैदल यात्रा की। 

दास ने आरोप लगाया कि पुलिस मुर्शिदाबाद में रोड शो रोकने का बहाना बना रही थी। उन्होंने कहा, हर दूसरे दिन वे किसी नए बहाने के साथ आ रहे हैं। तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के मुर्शिदाबाद जिले के प्रवक्ता गौतम घोष ने कहा, भाजपा इन रोड शो के जरिए लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रही है। केवल कुछ मुट्ठी भर लोग इसमें भाग ले रहे हैं। इसलिए पार्टी खबर में आने के लिए कुछ नाटक रच रही है। अगर प्रशासन ने रोड शो रोक दिया तो कोई वैध कारण रहा होगा। 

यह तीसरी बार था जब भाजपा को जिले में या तो रोड शो बंद करना पड़ा या अपना रास्ता बदलना पड़ा। उधर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की चुनावी रैली के मद्देनजर पुलिस ने मंगलवार को पार्टी से अपना रास्ता बदलने को कहा था। 

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने मंगलवार को मुर्शिदाबाद, मालदा, उत्तरी दिनाजपुर और पूर्वी बर्दवान, बंगाल में सबसे अधिक मुस्लिम आबादी वाले जिलों के अपने दो दिवसीय दौरे की शुरुआत की। पुलिस के रोड शो को रोकने के बाद सोमवार को भाजपा कार्यकर्ताओं ने बेलडांगा में लगभग दो घंटे तक आंदोलन किया। भाजपा चाहती थी कि रोड शो बेल्दांगा, नोवडा और हरिहरपारा से होकर गुजरे, लेकिन उन्हें इसके बजाय एनएच -34 के रास्ते पर जाने को कहा गया।