बियानी पर प्रतिबंध का रिलायंस सौदे पर असर नहीं, Future Retail ने शेयर बाजारों को बताया

फ्यूचर रिटेल लिमिटेड (एफआरएल) ने शेयर बाजारों को बताया है कि किशोर बियानी पर सेबी के प्रतिबंधों का रिलायंस रिटेल के साथ कंपनी के सौदे पर कोई असर नहीं पड़ेगा। कंपनी ने यह भी कहा कि उसके प्रमुख किशोर बियानी, कुछ अन्य प्रमोटर्स और फ्यूचर कॉरपोरेट रिसोर्सेज प्राइवेट लिमिटेड (एफसीआरएल) ने सेबी द्वारा बुधवार को दिए आदेश के खिलाफ अपील करने की योजना बनाई है। एफआरएल ने बुधवार देर रात को शेयर बाजारों को बताया कि आदेश का कंपनी की योजनाओं पर कोई असर नहीं होगा। संबंधित पक्ष अपील करने के अपने वैधानिक अधिकार का इस्तेमाल करेंगे। 

वहीं, एफसीआरएल ने एक अलग बयान में कहा कि सेबी के आदेश में किसी भी निकट योजना के तहत सिक्युरिटीज के लेनदेन को बाहर रखा गया है। सेबी के आदेश से रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के साथ चल रही योजना को आगे बढ़ाने में कोई बाधा नहीं आएगी।

उल्लेखनीय है कि किशोर बियानी, अनिल बियानी, फ्यूचर कॉरपोरेट रिसोर्सेज प्राइवेट लिमिटेड तथा एफसीआरएल इंप्लाई वेलफेयर ट्रस्ट को सेबी ने एक-एक वर्ष के लिए सिक्युरिटीज बाजार से प्रतिबंधित कर दिया है। उन पर 10 मार्च-20 अप्रैल, 2017 की अवधि में इनसाइडर ट्रेडिंग यानी भेदिया कारोबार का आरोप है। 

सेबी ने किशोर बियानी, अनिल बियानी और फ्यूचर कॉरपोरेट रिसोर्सेज पर एक करोड़ रुपये प्रत्येक का जुर्माना भी लगाया है। तीनों से कहा गया है कि वे गलत तरीके से कमाए 17.78 करोड़ रुपये वापस करें। 

इस आदेश के बाद फ्यूचर रिटेल की ओर से यह स्पष्टीकरण दिया गया है।

NSE पर फ्यूचर रिटेल लिमिटेड (FRL) के शेयर की कीमत 3.85 रुपये यानी 4.96 फीसद की गिरावट के साथ 73.75 रुपये पर रही। 

ADVERTISEMENT