LIVE Kisan Andolan: टीकरी बॉर्डर पर भारी संख्या में सुरक्षा बल तैनात, दिल्ली में कई जगह रूट डायवर्जन


तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों की रद करने की मांग को लेकर जहां सिंघु बॉर्डर पर शुक्रवार को किसानों का विरोध प्रदर्शन 65वें दिन में प्रवेश कर गया है, वहीं यूपी बॉर्डर पर भारतीय किसान यूनियन (टिकैत) ने मोर्चा संभाल लिया है। टीकरी बॉर्डर पर भारी संख्या में सुरक्षा बल तैतान हैं, जबकि दिल्ली पुलिस ने गाजीपुर बॉर्डर बंद करने के साथ कई जगहों पर रूट डायवर्जन कर दिया है। पिछले 2 महीने से भी अधिक समय से चल रहे किसान आंदोलन के चलते दिल्ली-एनसीआर के 60,000 करोड़ रुपये के कारोबार का नुकसान हो चुका है। कई लोगों की नौकरी जा चुकी है।

Delhi UP Ghazipur Border Farmers Protest LIVE Update:

इससे पहले गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में ट्रैक्टर परेड के दौरान हुए उपद्रव के बाद गाजियाबाद जिला प्रशासन ने सख्ती दिखाते हुए यूपी गेट पर प्रदर्शनकारी किसानों को धरनास्थल को खाली करने का आदेश दिया है, लेकिन शुक्रवार सुबह से हालात जस के तस हैं।

नोटिस के बाद गिरफ्तारी के लिए तैयार भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने धरनास्थल छोड़ने से इन्कार कर दिया है। उन्होंने कहा कि कोई किसान अपनी जगह से नहीं जाएगा। राकेश टिकैत ने यूपी गेट पर ही अनशन की चेतावनी दी है। मीडिया से बात करते वक्त वह रो भी पड़े। कहा-कृषि कानून रद न किए गए तो वह आत्महत्या कर लेंगे।

उधर, यूपी गेट पर चल रहे धरने को उठाने से संबंधित बयान देने के चंद घंटे बाद ही छोटे भाई चौधरी राकेश टिकैत के आंसू देख भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने सुर बदल लिए। गुरुवार को दिन में गाजीपुर बार्डर से धरना उठाने की बात कहने वाले चौधरी नरेश टिकैत ने रात को मुजफ्फरनगर के सिसौली में किसान पंचायत बुलाई और एलान किया कि शुक्रवार को अगला निर्णय लिया जाएगा। उन्होंने चेताया था कि कि रात में यूपी गेट पर कुछ भी होता है तो इसकी जिम्मेदारी शासन-प्रशासन की होगी। बगैर जांच पूरी हुए यदि गिरफ्तारी की गई तो हालात बिगड़ सकते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार कानून हाथ में लेने के लिए मजबूर कर रही है।

37 किसान नेताओं को भेजा गया नोटिस

ट्रैक्टर परेड की आड़ में गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में उपद्रव करने को लेकर दर्ज किए मुकदमे के बाद दिल्ली पुलिस ने 37 किसान नेताओं को नोटिस भेजकर तीन दिनों के अंदर जवाब देने को कहा है। यह नोटिस जिन नेताओं को भेजा गया है, उनमें भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत, जगतार सिंह बाजवा, योगेंद्र यादव, दर्शन पाल, कुलवंत सिंह संधू, बूटा सिंह, निर्भय सिंह धुड़ीके, रूल्दू सिंह आदि नेता शामिल हैं। दिल्ली पुलिस ने उन्हें तीन दिन के अंदर लिखित में जवाब देने के लिए कहा है।

ADVERTISEMENT