प्रेमी संग रचाना चाहती थी ब्याह इसलिए पति की कर दी हत्या

-पत्नी ने अपने माता-पिता, प्रेमी व उसके दोस्त के साथ पति की कर दी हत्या

-मुफसिल थाना क्षेत्र के बालाडीह का मामला, 24 घंटे के अंदर पुलिस ने किया गिरफ्तार

-हत्याकांड के उदभेदन में शामिल सभी पुलिस अफसर होगें पुरस्कृत

युवा शक्ति संवादाता

-----------------------

गया। कहते है पति-पत्नी का साथ सात जन्मों का होता है। दोनो एक दूसरे की रक्षा व साथ निभाने की कसम शादी के वक्त खाते है। लेकिन शहर के मुफसिल थाना क्षेत्र के बालाडीह कॉलोनी की घटना ने इस रिश्ते को कलंकित कर दिया। जुली ने अपने पति की हत्या के लिए अपनी मां संजू देवी, पिता दूर्गा साव, अपने प्रेमी व उसके दोस्त के साथ मिलकर हत्या कर दी। 

अपने प्रेमी के साथ मिल कर दी हत्या

शनिवार को वरीय पुलिस अधीक्षक कार्यालय में एसएसपी आदित्य कुमार ने बताया कि जुली का अपने साथ पढे एक लड़के के साथ अवैध संबंध था। करीब डेढ साल पहले उसके पति मृतक मुन्ना गुप्ता ने उसे व उसके प्रेमी को आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया था। इसके लिए वह पत्नी की पिटाई भी किया था। मृतक की पत्नी जुली जो गया इवनिंग कॉलेज की छात्रा रही है। वह पढाई के दौरान साथ पढे एक लड़के से प्रेम करती थी और उसी के साथ शादी करना चाहती थी। यह बात उसके माता-पिता को भी मालूम था। इसके बाद इन लोगों ने मिलकर उसके पति को रास्ते से हटाने के प्लान बनाये और प्रेमी व उसके दोस्त के साथ मिलकर हत्या कर दी।

नाक व मुंह में फेवि क्वीक देकर की हत्या 

वरीय पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मृतक मुन्ना गुप्त को इनलोगों ने नाक व मुंह में फेवी क्विक डार दिया जिससे कि उसके दम घुटन से मौत हो गयी। उसके बाद उसे बोरे में बंद कर पेट्रोल व अन्य सामान लेकर मोटर साइकिल पर जलाने जा रहे थें। इसी बीच गश्ती दल ने देखा और एक किलोमीटर तक पिछा किया। जहां दो लोग मोटर साइकिल व बोरे में बंद शव को छोड़कर फरार हो गये।

फरार आरोपी के गिरफ्तारी के लिए हो रही छापेमारी

 उन्होने बताया कि इस हत्याकांड में कुल पांच लोग शामिल थें। जिसमें से तीन लोग जुली उसकी मां संजू देवी व पिता दूर्गा साव को गिरफ्तार कर लिया गया है। वही जुली के प्रेमी व उसका साथी घटना के बाद फरार है। उसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

हत्याकांड के उदभेदन करने वाली टीम होगी पुरस्कृत

एसएसपी ने बताया कि हत्या के 24 घंटे के अंदर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। इस हत्याकांड का त्वरित उदभेदन करने वाली टीम में रहे वजीरगंज डीएसपी घुरन मंडल, प्रभारी थानाध्यक्ष मुफस्सिल अविनाश कुमार, शूरवीर कुमार गुप्ता, प्रिती कुमारी व तकनिकी शाखा की टीम पुरस्कृत किये जायेगें। इसके लिए उन्होने वरीय अधिकारी को भी पत्र भेजा है।

ADVERTISEMENT