गया के शेरघाटी में 24 करोड़ से बनेगा राज्‍यस्‍तरीय अनुसूचित जाति आवासीय विद्यालय, जानिए कितने होंगे कमरे


नया साल 2021 शेरघाटी के लिए खुशियों से भरा होगा। इसी कड़ी में शेरघाटी के गोपालपुर स्थित अांबेडकर अनुसूचित जाति आवासीय विद्यालय को सरकार ने अपग्रेड कर राज्य स्तरीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बनाने की दिशा में काम शुरू कर दिया है। कुल 24 करोड़ की लागत से उक्त आवासीय परिसर में बालक और बालिकाओं के लिए 720 कमरे होंगे। क्षेत्र के अनुसूचित जाति कल्याण मंत्री संतोष कुमार सुमन ने इसकी समीक्षा की है।

आधुनिक सुविधाओं से होगा सुसज्जित

यहां बालक-बालिकाओं के लिए इंटर स्तरीय अध्ययन केंद्र स्थापित होगा। कंस्ट्रक्शन कंपनी के कर्मचारी बादल ने बताया कि आवासीय परिसर काफी सुसज्जित होगा। यहां कंप्यूटर सिस्टम से लेकर गुणवत्तापूर्ण पठन-पाठन के लिए अध्यापकों की नियुक्ति होगी। ऐसे में गया जिले के नक्सल प्रभावित शेरघाटी अनुमंडल के नौ प्रखंडों के अनुसूचित जाति-जनजाति के बालक-बालिकाओं के लिए यह विद्यालय वरदान साबित हो सकेगा। वहीं शिक्षा के क्षेत्र में राज्य स्तर पर एक नया कदम माना जा रहा है। क्षेत्र के बुद्धिजीवी रामजी मांझी, कृष्ण नंदन कुमार आदि बताते हैं कि उक्त इंटर स्तरीय विद्यालय के चालू हो जाने के बाद क्षेत्र की कई बालिकाएं जो इंटर तक पढ़ाई करने में अक्षम होती थी उन्हें एक आगे बढ़ने के लिए पंख मिलेगा। हम सभी पिछड़े-दलित सरकार के इस कदम की सराहना करते हैं। 

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने रखी थी आधारशिला

उल्लेखनीय है कि आठ जुलाई 2020 को बिहार राज्य भवन निर्माण निगम पटना के तहत गोपालपुर स्थित आंबेडकर अनुसूचित जाति आवासीय विद्यालय की आधारशिला मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रखी। इसमें पठन-पाठन के लिए इंटर स्तरीय आवासीय सह अध्यापन भवन का निर्माण कल्याण विभाग ने शुरू करा यिा है।

तीन मंजिले इस विद्यालय में होंगे 720 कमरे  

निर्माण कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर बहादुर सिंह राणा ने बताया कि उक्त छात्रावास व स्कूल भवन का प्राक्कलन लगभग 24 करोड़ है। भवन में 720 कमरे होंगे यह तीन मंजिला भवन होगी। शिक्षकों के लिए दो अलग आवास का निर्माण होगा। भवनों का निर्माण कार्य दो वर्षों के भीतर पूर्ण किया जाना है। राणा ने बताया कि बिहार में संभवतः यह पहला अनुसूचित जाति, जनजात  बालिका आवासीय उच्च माध्यमिक स्तर का हाईटेक आवासीय भवन होगा।उन्होंने कहा कि इस आवासीय विद्यालय में आवास के साथ-साथ पठन-पाठन की सारी सुविधाएं उपलब्ध होंगी। यहां पूरे बिहार से चयनित छात्राएं उच्च माध्यमिक स्तर तक पढ़ाई कर सकेंगी।

क्षेत्र के लोगों ने जताई खुशी

गोपालपुर पंचायत के मुखिया परमानंद मनी, प्रखंड प्रमुख शेरघाटी के तालकेश्वर चौधरी ने बताया कि शेरघाटी अनुमंडल वासियों के लिए आवासीय अनुसूचित जाति, जनजाति विद्यालय के भवन का निर्माण और पठन-पाठन शुरू होना गौरव की बात है। यहां पूरे प्रदेश से बालिकाएं शिक्षा प्राप्त करने के लिए आएंगी और उन्हें समुचित शिक्षा का लाभ प्राप्त होगा। यह परियोजना एमएस नारायण कंस्ट्रक्शन कंपनी सीतामढ़ी के जिम्‍मे है। इसका काम अब तेजी से शुरू हो गया है।


ADVERTISEMENT