अमित शाह बोले- अमेरिका में बाइडेन या ट्रंप जो भी आए, संबंध अच्छे रखने का करेंगे प्रयास

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन जीत के करीब दिख रहे हैं. बाइडेन अगर सत्ता में आते हैं तो अमेरिका और भारत के रिश्तों की नई शुरुआत होगी. दोनों देशों के रिश्तों पर क्या असर पड़ेगा, ये तो आने वाला समय बताएगा. लेकिन केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह मानते हैं कि अमेरिका में चाहे डेमोक्रेट की सरकार हो या रिपब्लिकन की, हमारे रिश्ते सबसे अच्छे ही रहे हैं.

अनुच्छेद 370 के लिए चीन से मदद लेने की बात पर बोले अमित शाह- यह आसान नहीं, J-k की जनता खुश

पश्चिम बंगाल पहुंचे अमित शाह ने आजतक से खास बातचीत की. उनसे सवाल किया गया कि जो बाइडेन के आने से भारत और अमेरिका के रिश्तों पर क्या असर पड़ेगा. इस पर अमित शाह ने कहा कि भारत और अमेरिका के रिश्ते दो देशों के बीच के रिश्ते हैं. अमेरिका की जनता जिसको भी राष्ट्रपति बनाती है, भारत अमेरिकी सरकार के साथ अच्छे संबंध रखने का प्रयास करेगा. उन्होंने कहा कि चाहे डेमोक्रेट की सरकार हो या रिपब्लिकन पार्टी की, हमारे सबसे अच्छे रिश्ते रहे हैं. 

बता दें कि अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव में कांटेदार मुकाबला चल रहा है. अभी तक जो बाइडेन जीत के करीब दिख रहे हैं और अब वो इलेक्टोरल वोट के बहुमत से सिर्फ 6 वोट ही दूर हैं. वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अब भी कुछ राज्यों में आगे चल रहे हैं. ऐसे में अंत में जाकर ऐसी स्थिति भी बन सकती है, जिसमें ट्रंप बहुमत के आंकड़े को पार कर सकते हैं. 

मौजूदा वक्त में जो बाइडेन को कुल 264 इलेक्टोरल वोट मिल चुके हैं, जबकि डोनाल्ड ट्रंप कुल 214 वोटों पर हैं. यानी जो बाइडेन को सिर्फ 6 वोट चाहिए और 56 वोट डोनाल्ड ट्रंप को बहुमत के लिए चाहिए.

बता दें कि नरेंद्र मोदी 2014 में जब प्रधानमंंत्री बने थे तब अमेरिका में डेमोक्रेटिक पार्टी की सरकार थी और बराक ओबामा वहां के राष्ट्रपति थे. ओबामा के राष्ट्रपति रहते भी भारत और अमेरिका के संबंध नई ऊंचाइयों को छू रहे थे. इसके दो साल बाद अमेरिका में राष्ट्रपति का चुनाव हुआ और रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप राष्ट्रपति बने. ट्रंप के सत्ता में आने के बाद भारत और अमेरिका की दोस्ती और मजबूत हुई और ट्रंप और मोदी के केमिस्ट्री की तो पूरी दुनिया में चर्चा होती है. 


ADVERTISEMENT