गुपकार गैंग वाले बयान पर फारूक अब्दुल्ला बोले- शायद अमित शाह ने मेरा इतिहास नहीं पढ़ा है


गृह मंत्री अमित शाह की ओर से गुपकार एलायंस को गुपकार गैंग करार देने वाले बयान पर जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला की प्रतिक्रिया आई है. इंडिया टुडे से बातचीत में पूर्व सीएम ने कहा कि गृह मंत्री का ये कहना, बहुत दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है. मुझे नहीं लगता है कि उन्होंने फारूक अब्दुल्ला के इतिहास को पढ़ा है.

फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि मैंने कई मंचों पर अपने राष्ट्र का बचाव किया है. मैं राष्ट्र विरोधी नहीं हो सकता. बीजेपी की एक मात्र समस्या है, जो उनके साथ नहीं है वो राष्ट्र विरोधी है और जो बीजेपी में है वो देश भक्त है. गुपकार केवल कश्मीर घाटी या मुसलमानों के बारे में नहीं है.

पीडीपी चीफ के झंडे वाले बयान पर फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि हमने झंडा ऊंचा रखा है. मेरी पार्टी के सैकड़ों कार्यकर्ता मारे गए हैं. वे किसके लिए मर गए? भारत के लिए. क्या दिल्ली और कश्मीर के बीच विश्वास की कमी है? इस पर उन्होंने कहा कि क्या उन्होंने विश्वास पैदा करने की कोशिश की? हम बंद थे. आज, हम देश विरोधी हैं. हम भारत के साथ खड़े हैं, हम भारत के साथ खड़े रहेंगे. 

कांग्रेस पार्टी को लेकर पूर्व सीएम ने कहा कि गृह मंत्री ने कांग्रेस को एक कोने में खड़ा करने की कोशिश की है. वो एक राष्ट्रवादी पार्टी है. कांग्रेस स्पष्ट है कि अनुच्छेद 370 को बहाल किया जाना चाहिए, राज्य का दर्जा दिया जाना चाहिए. 

बता दें कि हाल ही में गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर के गुपकार गुट को गुपकार गैंग करार दिया था. अमित शाह ने कांग्रेस नेतृत्व से सवाल करते हुए कहा है कि ये गैंग जम्मू-कश्मीर में विदेश में विदेशी ताकतों का दखल चाहता है, हमारे राष्ट्र ध्वज का अपमान करता है? क्या सोनिया और राहुल गांधी इसका समर्थन करते हैं? अमित शाह ने कहा था कि वे गुपकार गुट को कहना चाहते हैं कि ये लोग देश के मूड के साथ चलें, वर्ना खत्म हो जाएंगे.


ADVERTISEMENT