विदेशी मुद्रा भंडार 568 बिलयन डॉलर के सर्वकालिक रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा, जानें स्वर्ण भंडार में कितनी हुई वृद्धि

 


देश का विदेशी मुद्रा भंडार छह नवंबर को खत्म सप्ताह के दौरान 7.779 बिलियन डॉलर चढ़कर 568.494 बिलियन डॉलर के सर्वकालिक रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया। उससे पिछले सप्ताह यानी 30 अक्टूबर को यह 1.83 करोड़ डॉलर मजबूत होकर 560.715 अरब डॉलर पर था। इस वर्ष पांच जून को खत्म सप्ताह के दौरान देश के विदेशी मुद्रा भंडार ने पहली बार 500 बिलियन डॉलर का आंकड़ा पार किया था। आरबीआइ के मुताबिक छह नवंबर को खत्म सप्ताह के दौरान विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियों (एफसीए) में बड़ी बढ़ोतरी का फायदा विदेशी मुद्रा भंडार पर दिखा, जिससे यह 568 बिलियन डॉलर के ऊपर पहुंचा।  

समीक्षाधीन सप्ताह में विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियां 6.403 बिलियन डॉलर चढ़कर 524.742 बिलियन डॉलर पर पहुंच गई। एफसीए में अमेरिकी डॉलर को छोड़ यूरो, पाउंड व अन्य मुद्राओं को शामिल किया जाता है। इसकी गणना भी डॉलर के मूल्य में ही होती है। समीक्षाधीन सप्ताह के आखिर में देश के स्वर्ण भंडार का मूल्य 1.328 अरब डॉलर बढ़कर 37.587 बिलियन डॉलर पर जा पहुंचा। 

वस्तुओं के निर्यात में पांच फीसद से अधिक की गिरावट

सितंबर में सकारात्मक विकास के बाद अक्टूबर में देश का निर्यात 5.12 फीसद घटकर 24.89 बिलियन डॉलर का रह गया। वहीं, अक्टूबर में आयात भी 11.53 फीसद घटकर 33.6 बिलियन डॉलर मूल्य का रह गया। इससे व्यापार घाटा भी घटकर 8.71 अरब डॉलर रह गया। पिछले वर्ष अक्टूबर में व्यापार घाटा 11.75 अरब डॉलर पर था।सरकार द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक अक्टूबर में पेट्रोलियम उत्पादों (52 फीसद), काजू (21.57 फीसद), रत्न एवं आभूषण (21.27 फीसद), चमड़ा (16.67 फीसद), मानव निर्मित धागे/कपड़े (12.8 फीसद), इलेक्ट्रॉनिक्स सामान (9.4 फीसद), कॉफी (9.2 फीसद), समुद्री उत्पादों (आठ फीसद) और इंजीनियरिंग सामान (3.75 फीसद) के निर्यात में बड़ी गिरावट आई है। 

चालू वित्त वर्ष के शुरुआती सात महीनों यानी अप्रैल से अक्टूबर अवधि में निर्यात 19.02 फीसद की गिरावट के साथ 150.14 अरब डॉलर मूल्य का रह गया। वहीं वित्त वर्ष के शुरुआती सात महीनों में आयात 36.28 फीसद घटकर 182.29 अरब डॉलर पर आ गया। अक्टूबर में कच्चे तेल का आयात 38.52 फीसद घटकर 5.98 अरब डॉलर का रह गया। अप्रैल-अक्टूबर के दौरान कच्चे तेल का आयात 49.5 फीसद घटकर 37.84 अरब डॉलर रहा है।

सेवा निर्यात करीब डेढ़ फीसद गिरादेश का सेवा निर्यात इस वर्ष सितंबर में 1.4 फीसद घटकर 17.29 अरब डॉलर मूल्य का रहा। पिछले वर्ष समान अवधि में यह आंकड़ा 17.54 अरब डॉलर था। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआइ) के आंकड़ों के मुताबिक सेवा आयात (भुगतान) भी 8.7 फीसद गिरकर 10.14 अरब डॉलर मूल्य का रहा। एक वर्ष पहले सितंबर में यह 11.10 अरब डॉलर था।


ADVERTISEMENT