हर गांव में लगेगी सोलर स्ट्रीट लाइट, हर खेत तक पहुंचेगा पानी: नीतीश कुमार

 

बेगूसराय(एजेंसी) : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को बेगूसराय में राजद समेत विपक्ष पर जोरदार हमला बोला. साहेबपुर कमाल विधानसभा क्षेत्र के प्रत्याशी शशि कुमार उर्फ अमर कुमार सिंह के पक्ष में बलिया के चमरिया मैदान में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि वे गरीबों के कंधे पर बंदूक रखकर राज करते थे. लेकिन अब जनता जागरूक हो गई तो कोई उन्हें कंधा देने के लिए भी तैयार नहीं है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने समाज के उत्थान के लिए काम नहीं किया, अपराध चरम पर था, रोज नरसंहार हो रहा था. शाम के बाद लोगों ने घर से निकलना बंद कर दिया था, शिक्षा और इलाज की व्यवस्था बदहाल थी. कहा, जिसको सरकार चलाने का  अनुभव और ज्ञान नहीं है, वह लोगों को भड़काने के लिए कुछ-कुछ बोल रहा है. हम पर बोलकर पब्लिसिटी लेना चाहता है, वह बोलता है तो बोलता रहे. 

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा काम बोलना नहीं, सेवा करना है. सेवा ही हमारा धर्म है, हम न्याय के साथ विकास की बात करते हैं. हर इलाके का विकास कर रहे हैं, सभी तबके का उत्थान कर रहे हैं. हमने सेवा की है इसलिए तीर छाप पर वोट देकर बिहार के हित में काम करने वाली सरकार एक बार फिर बनाएं.  मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व की सरकारों में एक महीने में 39 मरीज स्वास्थ्य केंद्र जाते थे और बिहार के गरीबों की आय का बड़ा हिस्सा इलाज पर  खर्च होता था. लेकिन हमने सरकार में आते ही सभी अस्पतालों में चिकित्सकों और दवा का प्रबंध किया जिसके कारण प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में औसतन दस हजार मरीज जा रहे हैं. उनकी सरकार में स्कूल दिखता नहीं था, हमने सवा दो लाख से अधिक वर्ग कक्ष बनाए, 20 हजार से अधिक नए स्कूल खोले गए. करीब चार लाख शिक्षकों की बहाली की गई, महादलित और अल्पसंख्यक बच्चों लिए 30 हजार से अधिक टोला सेवक और तालिमी मरकज  बहाल किये. 

मुख्यमंत्री ने कहा कि नगर निकाय में आरक्षण दिया गया, सभी वर्गों के लिए काम किये गये तो अपराध कम हो गया और आज बिहार अपराध के मामले में 23वें स्थान पर है. शिक्षा की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बेहतर शिक्षा के लिए जिलों में इंजीनियरिंग कॉलेज, पॉलिटेक्निक कॉलेज, जीएनएम कॉलेज और महिला आईटीआई खोले जा रहे हैं. हर घर बिजली पहुंचायी गयी. 2005-06 में बिहार में सात सौ मेगावाट बिजली की खपत होती थी, आज छह हजार मेगावाट बिजली खपत हो रही है. 83 प्रतिशत घरों में नल का जल पहुंचाया जा चुका है. हर गली में नाली और सड़क बनायी जा रही हैं, शौचालय बन गया.  नीतीश  कुमार ने बार - बार यह बात कही कि हम काम में विश्वास करते हैं, काम ही लोगों की सेवा है, मेरे लिए पूरा बिहार एक परिवार है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि आगे फिर मौका मिला तो टेक्नोलॉजी की ट्रेनिंग दी जाएगी. हर जिले में मेगा स्किल सेंटर बनाए जाएंगे, ताकि बेहतर काम मिल सके. हर गांव में सोलर स्ट्रीट लाइट लगायी जायेगी, हर खेत में पानी पहुंचेगा. पर्यावरण संरक्षण के साथ-साथ साफ सफाई पर फोकस  होगा.  हर गांव को शहर से जोड़ने के लिए अच्छी सड़कें बनेंगी. सभी शहरों में बाईपास बनेगा. जहां बाईपास बनाने के लिए जमीन नहीं मिलेगी, वहां फ्लाईओवर बनाए जाएंगे. पशुओं के स्वास्थ्य पर फोकस करने के लिए प्रत्येक आठ-दस पंचायतों पर पशु अस्पताल खोला जाएगा. 

सभा को संबोधित करते हुए जदयू के राष्ट्रीय महासचिव और जल संसाधन मंत्री संजय झा ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली बिहार की सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र की सरकार में बिहार के हर क्षेत्र का बेहतर विकास किया गया. कोरोना काल में बाहर से आने वाले लोगों के किराये से लेकर क्वॉरेन्टाइन तक विशेष व्यवस्था की गई. झा ने कहा कि इसके लिए प्रत्येक व्यक्ति पर 53 सौ रुपए खर्च किए गए. चुनाव के दौरान विपक्ष जैसा षड़यंत्र कर रहा है उससे लोगों को डर लगने लगा है कि कहीं गलती से किसी और की सरकार बन गई तो क्या होगा. सभा को जदयू जिलाध्यक्ष भूमिपाल राय, भाजपा जिलाध्यक्ष राजकिशोर सिंह, जदयू के प्रदेश उपाध्यक्ष रुदल राय एवं प्रत्याशी अमर कुमार ने भी संबोधित किया.