20 जोड़ी क्लोन ट्रेनों का रिजर्वेशन आज से, बुकिंग से पहले जान लें ये जरूरी बातें


भारतीय रेलवे (Indian Railway) 21 सितंबर से 20 जोड़ी ‘क्लोन’ ट्रेनें चलाएगा। इनके लिए रिजर्वेशन आज यानी 19 सितंबर से शुरू हो रहा है। रेलवे के मुताबिक इन ट्रेनों में से 19 जोड़ी ट्रेनों के लिए हमसफर एक्सप्रेस का किराया लिया जाएगा। लखनऊ से दिल्ली के बीच ‘क्लोन’ ट्रेन के लिए यह जनशताब्दी एक्सप्रेस के किराए के बराबर होगा। इन ट्रेनों की अग्रिम आरक्षण अवधि 10 दिनों की होगी।

रेलवे के अनुसार ये ट्रेनें उन रूट्स पर चलेंगी जहां टिकटों की प्रतीक्षा सूची लंबी है या मांग अधिक है। रेलवे ने कहा कि ये ट्रेनें पहले से मौजूद 310 विशेष रेलगाड़ियों के अलावा होंगी और इनका स्टॉपेज लिमिटेड होगा। ये क्‍लोन ट्रेनें पूरी तरह से आरक्षित (Fully Reserved) होंगी और पहले से तय समय पर चलेंगी। इनकी रफ्तार मुख्‍य ट्रेन से ज्‍यादा होगी। साथ ही इनके स्‍टॉपेज भी मुख्‍य ट्रेन के मुकाबले कम (Limited Stoppages) होंगे। इससे दोनों ट्रेनें आखिरी स्‍टेशन पर करीब-करीब एक ही समय पर पहुंचेंगी.

कितना होगा किराया?

रेल मंत्रालय ने बताया कि 19 जोड़ी क्‍लोन स्‍पेशल ट्रेनों को हमसफर रैक्‍स (Humsafar Rakes) का इस्‍तेमाल कर चलाया जाएगा। वहीं, 1 जोड़ी लखनऊ दिल्‍ली क्‍लोन स्‍पेशल ट्रेन को जनशताब्‍दी एक्‍सप्रेस की तरह चलाया जाएगा। हमसफर रैक का किराया हमसफर ट्रेन के बराबर होगा जबकि, जनशताब्‍दी रैक का किराया जनशताब्‍दी एक्‍सप्रेस के बराबर होगा।

मंत्रालय ने स्‍पष्‍ट किया है कि क्‍लोन स्‍पेशल ट्रेनें पहले से ही चल रहीं स्‍पेशल ट्रेनों के अतिरिक्‍त होंगी। मंत्रालय की ओर से जारी समय सारिणी के मुताबिक, सहरसा समेत बिहार के 5 स्टेशनों से क्लोन ट्रेनें चलाई जाएंगी। ये ट्रेनें सहरसा के साथ ही पूर्व मध्य रेल के दरभंगा, मुजफ्फरपुर, राजगीर और राजेंद्रनगर स्टेशन से चलेंगी। वहीं, 3 क्‍लोन ट्रेनें पंजाब के अमृतसर से शुरू होंगी। पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से शुरू होकर दिल्‍ली आने वाली क्‍लोन ट्रेन सिर्फ दो स्‍टेशनों लखनऊ और मुरादाबाद ही रुकेगी। ये ट्रेनें यूपी, बिहार, दिल्‍ली, पंजाब, गुजरात और महाराष्‍ट्र समेत कई राज्‍यों के बीच चलाई जाएंगी।

कंफर्म टिकट

रेलवे ने यह प्लान उन रूट्स के लिए बनाया है, जहां वेटिंग लिस्ट लगातार लंबी होती है। इस प्‍लान के तहत व्‍यस्‍त रूट्स पर हर यात्री को कंफर्म टिकट मिलना तय हो गया है। इसी के लिए भारतीय रेलवे क्‍लोन ट्रेनें चला रही है। आसान शब्‍दों में समझें तो मुख्‍य ट्रेन के जाने के एक घंटे बाद उसी रूट की दूसरी ट्रेन उसी प्‍लेटफॉर्म से जाएगी, जो वेटिंग लिस्‍ट वाले पैसेंजर्स को लेकर जाएगी। इससे वेटिंग टिकट वाले यात्री करीब-करीब उसी समय पर बिना किसी परेशानी के अपने डेस्टिनेशन तक पहुंच जाएंगे।

आज से बुकिंग

रेल मंत्रालय द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, इन क्लोन ट्रेनों की टिकट बुकिंग की प्रक्रिया आज से यानी 19 सितंबर 2020 से शुरू हो रही है। यात्रा की तारीख से 10 दिन पहले इन ट्रेनों की टिकट बुकिंग की जा सकती है। यानी आप जिस दिन टिकट बुक करेंगे उसके 10 दिन के भीतर ही आपको यात्रा करनी होगी। इससे ट्रेन में टिकट की उपलब्धता बनी रहेगी।

क्या होती है क्लोन ट्रेन

क्लोन किसी भी मूल ट्रेन के नाम और हिसाब से ही चलने वाली दूसरी ट्रेन को कहते हैं। यह ट्रेन मूल ट्रेन के रूट पर ही चलती है। इन्हें किसी खास रूट पर बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए चलाया जाता है। क्लोन ट्रेन इसलिए भी क्योंकि रेलवे रूट पर दूसरी ट्रेनें बढ़ाने के बजाय पहले से चल रही ट्रेन के नाम पर ही वैसी ही एक और ट्रेन बढ़ा देती है, इससे बढ़े हुए यात्रियों को सुविधा होती है।


ADVERTISEMENT