कोरोना संकट के बीच खूब चला काम, लक्ष्य से ज्यादा नेशनल हाईवे का निर्माण


कोरोना संकट की वजह से मार्च में लागू लॉकडाउन लागू किया गया था. लॉकडाउन की वजह से अप्रैल और मई में लगभग सभी तरह के काम-धंधे बंद थे. वहीं कोरोना संकट के बीच में सड़क निर्माण का काम तेजी से चल रहा था. इस दौरान सरकार ने रोड बनाने का जो लक्ष्य रखा था, उसे हासिल कर लिया. 

दरअसल, सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने पिछले हफ्ते तक देश में राष्ट्रीय राजमार्गों के निर्माण के अपने लक्ष्य को पार कर लिया है. इस वर्ष अप्रैल से अगस्त के दौरान इस अवधि के लिए 2771 किलोमीटर के लक्ष्य के मुकाबले 3181 किलोमीटर एनएच लंबाई का सड़क निर्माण किया गया.

कोरोना संकट के बीच कामयाबी

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के मुताबिक अप्रैल से अगस्त के बीच राज्य लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) ने 2104 किलोमीटर, एनएचएआई ने 879 किलोमीटर और एनएचआईडीसीएल ने 198 किलोमीटर राजमार्ग का निर्माण कराया है. 

इसके अलावा, इस साल अगस्त तक 3300 किलोमीटर लंबाई के राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण का कार्य दिया गया है, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 1367 किलोमीटर के दोगुना से अधिक है. इसमें लोक निर्माण विभाग का 2167 किलोमीटर, एनएचएआई का 793 किलोमीटर और एनएचआईडीसीएल का 341 किलोमीटर का निर्माण शामिल हैं.

मंत्रालय के मुताबिक अप्रैल से अगस्त के दौरान पूरे देश में 2983 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण के लिए स्वीकृति दी गई थी. इसमें लोक निर्माण विभाग द्वारा 1265 किलोमीटर, एनएचएआई द्वारा 1183 किलोमीटर और एनएचआईडीसीएल द्वारा 535 किलोमीटर का निर्माण शामिल है.

ADVERTISEMENT