Patna Lockdown Again: पटना में लॉफकडाउन बनी मजबूरी, डरावने हुए कोरोना के कोरोना के आंकड़े


बिहार में कोरोना संक्रमण (CoronaVirus Infection) की रफ्तार बहुत तेज दिा रही है। राजधानी पटना की बात करें तजो यहां कोरोना का शिकंजा किस कदर कस गया है, इसे 11 दिनों के आंकड़ों से समझा जा सकता है। बीते दो से 12 जुलाई के बीच केवल पटना जिले में ही कोरोना से 17 मौतें हुईं। जबकि, इस अवधि के दौरान 1260 लोग संक्रमित हुए। हालात बेकाबू होते देख जिलाधिकारी (DM) ने सिविल सर्जन (CS) की अनुशंसा पर सात दिनों का लॉकडाउन (Lockdown Again) लागू कर दिया। लेकिन हालात में कोई सुधार नहीं देख अब लॉकडाउन का और आगे बढ़ना (Lockdown Extension) तय माना जा रहा है।

जुलाई में बढ़ी कारोना संक्रमण की रफ्तार

कोरोना संक्रमण की बात करें तो 12 जुलाई को आंकड़ा सर्वाधिक 227 का रहा था। दूसरा सर्वाधिक आंकड़ा बीते सात जुलाई को ही 202 था। सोमवार 12 जुलाई को भी 612 संक्रमित मिले थे। जुलाई की आठ तारीख को ही जिले में किसी एक दिन की सर्वाधिक छह  मौतें हुईं थीं।

महामारी को लेकर लापरवाह हो गए लोग

दरअसल, लॉकडाउन में ढ़ील दिए जाने के साथ ही आमजन कोरोना महामारी को लेकर लापरवाह हो गए हैं। लोग जगह-जगह समूह बना आपस में बिना मास्क लगाए बातें करते आसानी से देखे जा सकते हैं। सब्जी खरीदते समय ठेलेवाले के बिल्कुल पास जाए बिना खरीदारी पूरी नहीं हो रही है। और तो और, अस्पताल में कोविड-19 की जांच कराने जा रहे लोग भी फिजिकल डिस्टेंसिंग के साथ मास्क पहनने की एहतियात नहीं बरत रहे हैं।

सिविल सर्जन ने कहा- अपनी सुरक्षा करिए

सिविल सर्जन डॉ. राजकिशोर चौधरी ने कहा कि यदि हर शख्स सिर्फ अपनी सुरक्षा का ध्यान रखे तो कोरोना पटना से 15 दिन में खत्म हो जाएगा। बिना लक्षण वाले कोरोना से जो लोग संक्रमित हैं वे सेल्फ आइसोलेशन से ही ठीक हो जाएंगे। जिन लोगों की हालत बिगड़ेगी, उनके इलाज के लिए हमारे पास पर्याप्त साधन हैं।

जुलाई में कोरोना के आंकड़े, एक नजर

तिथिवार संक्रमण व मौत (मौत काेष्‍ठक में)

2 जुलाई: 90 (1)

3 जुलाई: 32 (1)

4 जुलाई: 42 (2)

5 जुलाई: 37 (0)

6 जुलाई: 70 (1)

7 जुलाई: 202 (0)

8 जुलाई: 176 (6)

9 जुलाई: 75 (2)

10 जुलाई: 133 (2)

11 जुलाई: 176 (2)

12 जुलाई: 227 (0)

ADVERTISEMENT