राफेल के आने से दहशत में पाकिस्तान, कहा- विश्‍व समुदाय भारत को हथियार जमा करने से रोके


भारतीय वायुसेना में लड़ाकू विमान राफेल के शामिल होने से पाकिस्तान खौफ में आ गया है. वह अब दुनिया के सामने गुहार लगा रहा है. पाकिस्तान ने विश्‍व समुदाय से गुहार लगाई है कि वह भारत को हथियार जमा करने से रोके. इससे दक्षिण एशिया में हथियारों की होड़ शुरू हो सकती है.

पाकिस्तान विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि भारत अपने परमाणु हथियारों की संख्‍या और गुणवत्‍ता दोनों को ही बढ़ा रहा है. भारत अब दूसरा सबसे बड़ा हथियारों का आयातक देश बन गया है. बता दें कि पांच राफेल विमान बुधवार को अंबाला एयरबेस पर लैंड किए. इस दौरान वायुसेना के चीफ एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया भी मौजूद रहे.

फ्रांस से मिलने वाली 36 राफेल विमानों की ये पहले खेप है. इन विमानों ने मंगलवार को फ्रांस से उड़ान भरी थी, जिसके बाद ये UAE में रुके और बुधवार दोपहर को अंबाला पहुंचे. भारतीय वायुसेना की ताकत बढ़ने से पाकिस्तान का बौखलाना तय था. विमानों की लैडिंग के एक दिन बाद अब उसने प्रतिक्रिया दी है.

रक्षा मंत्री ने किया विमानों का स्वागत

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह राफेल विमानों का स्वागत किया. उन्होंने कहा कि राफेल विमान भारतीय वायुसेना की जरूरतों को हर तरह से पूरा करते हैं. राफेल लड़ाकू विमान एक नए युग की शुरुआत हैं.

राफेल विमान को वायुसेना की गोल्डन ऐरो 17 स्क्वाड्रन में शामिल किया जाएगा. इसने कारगिल युद्ध में अहम भूमिका निभाई थी. LAC पर चीन के साथ जारी तनाव के बीच भारत को ये ताकतवर लड़ाकू विमान मिले हैं. इनकी तैनाती उत्तर भारत के बेस पर ही की जा रही है, जिससे मुश्किल वक्त में दुश्मन को मज़ा चखाया जा सके.

ADVERTISEMENT