निजी बसों के चलने से कम हुई कोलकाता के यात्रियों की दिक्कतें


कोलकाता: पश्चिम बंगाल के राज्य परिवहन मंत्री सुवेंदु अधिकारी ने कहा कि पश्चिम बंगाल में बृहस्पतिवार को रोजमर्रा की यात्रा करनेवाले लोगों की तकलीफें काफी हद तक दूर हो गई हैं क्योंकि सरकारी और निजी बसों का परिचालन बड़ी संख्या में शहर और उसके आस-पास के इलाकों में शुरू हो गया है। उन्होंने कहा कि करीब 1,800 सरकारी बसें और 3,800 निजी बसों की सेवा कोलकाता मेट्रोपोलिटन एरिया (केएमए) में दी जा रही है। केएमए में शहर और उसके पड़ोसी जिले शामिल हैं। मंत्री ने कहा, ‘‘ बसों का परिचालन आज पूरी तरह से सामान्य है।’’ निजी बसों के संचालक ईंधन की कीमतों में वृद्धि, कोविड-19 को देखते हुए यात्री क्षमता में कमी के नियम को लेकर बस का किराया बढ़ाने की मांग कर रहे थे जिसको लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को चेतावनी दी कि अगर बसें सड़कों पर नहीं लौटी तो आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी। बुधवार को परिवहन सचिव के साथ मुलाकात के बाद बस संचालकों के एक तबके ने बृहस्पतिवार से बसों को सेवा में लगाने का आश्वासन दिया था।

ADVERTISEMENT