NHAI के सर्वर पर हमला, हैकर्स ने डेटा चुराकर पोस्ट किया ऑनलाइन- रिपोर्ट


राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) के सर्वर पर हैकर्स ने हमला किया है. कहा जा रहा है कि हैकर्स ने बड़े पैमाने पर डेटा में सेंध लगाई है. डेटा चोरी करने के बाद हैकर्स ने फाइनेंशियल रिकॉर्ड, कॉन्ट्रैक्ट्स के दस्तावेज और कर्मचारियों की जानकारियों को ऑनलाइन पोस्ट कर दिया. अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक चुराए गए डेटा में एजेंसी के कम से कम एक पूर्व अध्यक्ष के व्यक्तिगत पहचान के दस्तावेज भी शामिल हैं. सारी जानकारियां 2 जून को ऑनलाइन पोस्ट कर दी गई. बता दें कि NHAI देश में राजमार्गों के निर्माण और रखरखाव के लिए जिम्मेदार है.

पिछले हफ्ते 28 जून को NHAI पर साइबर हमले की खबर आई थी, लेकिन दो दिन बाद NHAI ने कहा था कि उनका सारा डेटा सुरक्षित है. अखबार के मुताबिक NHAI पर ये रैंसमवेयर साइबर हमला था. इस तरह के हमले में आमतौर पर पैसा बनाने के लिए हैकर्स डेटा चुराते हैं. अखबार को ये सारी जानकारी सिंगापुर के साइबर स्पेससिटी फर्म साइफिरमा (Cyfirma) ने दी. इसके मुताबिक चुराए गए डेटा में ऑडिट रिपोर्ट, पासपोर्ट की कॉपियां और पहचान पत्र शामिल है.

हैकर्स ने मांही फिरौती!

कहा जा रहा है कि ये डेटा दो अलग-अलग फाइल में थी और इसकी साइज़ 1.8 GB है. हैकर्स ने दावा किया है कि उसने 5% डेटा की चोरी की है. साइफिरमा के आकलन के मुताबिक हैकर्स ने इस डेटा के लिए एनएचएआई से फिरौती की मांग की होगी. दरअसल हैकर्स के ये ग्रुप और ज्यादा डेटा चुराने की धमकी देते हैं.

NHAI ने किया इनकार
एनएचएआई ने एक बार फिर से किसी भी डेटा की चोरी से इनकार किया है. अखबार से बातचीत करते हुए एनएचएआई के मुख्य महाप्रबंधक (आईटी) अखिलेश श्रीवास्तव ने कहा कि वो सभी स्तरों पर दुनिया के सर्वश्रेष्ठ साइबर सुरक्षा उपायों को अपनाते हैं. बता दें कि अभी तक ये नहीं पता चल सका है कि हैकर्स किस देश के थे.

ADVERTISEMENT