Google Chrome में इन एक्स्टेंशन्स का न करें यूज, पब्लिक हो सकती है ब्राउजिंग हिस्ट्री


अगर आप वेब ब्राउजर गूगल क्रोम में कई एक्स्टेंशन यूज करते हैं, और ये किसी भरोसेमंद कंपनी का नहीं है तो इसे हटा लें. क्योंकि ये थर्ड पार्टी एक्स्टेंशन्स आपके लिए मुश्किल पैदा कर सकते हैं.

गूगल क्रोम वेब ब्राउजर पर ये एक्स्टेंशन्स फ्री रहते हैं. इनमें से कई बड़े दावे करते हैं कि अगर आप इसे इंस्टॉल कर लेंगे तो आपकी ब्राउजिंग सेफ हो जाएगी और आप हैकिंग से बच जाएंगे. लेकिन रिपोर्ट के मुताबिक इसका उलटा हो रहा है.

दुनिया भर में Google Chrome वेब ब्राउजर्स के करोड़ों यूजर्स हैं. हाल ही में साइबर सिक्योरिटी फर्म अवेक सिक्योरिटी ने एक खुलासा किया है. इस फर्म के मुताबिक गूगल क्रोम के एक्स्टेंशन्स के जरिए यूजर्स पर स्पाईवेयर अटैक हो रहा है.

जाहिर है आपके लिए गूगल क्रोम की हिस्ट्री काफी पर्सलन होती है. आप दिन भर में कौन-कौन सी वेबसाइट्स पर क्या देख रहे हैं, आप ये कतई नहीं चाहेंगे कि कोई दूसरा इसे देखे. चूंकि स्पाईवेयर अटैक है तो इस तरह के खतरों से आपको भी जूझना पड़ सकता है.

रिपोर्ट के मुताबिक गूगल क्रोम ब्राउजर में यूज किए जाने वाले एक्स्टेंशन्स प्राइवेसी के लिए खतरनाक हैं. इन एक्स्टेंशन्स को 3.20 करोड़ बार डाउनलोड किया जा चुका है. दुनिया भर में दूसरे वेब ब्राउजर के मुकाबले गूगल क्रोम के सबसे ज्यादा यूजर्स हैं.

ये खुलासा इसलिए भी गंभीर है क्योंकि ये एक्स्टेंशन्स फ्री होते हैं और ये पॉपुलर भी हैं. आम तौर पर इसे लोग वेब ब्राउजर की जरूरतों के लिए यूज करते हैं ताकि ब्राउजिंग करने में आसानी हो सके.

दरअस इस तरह के फ्री एक्स्टेंशन्स के जरिए हैकर्स यूजर्स का सेंसिटिव डेटा चोरी करते हैं. इसे डार्क वेब पर बेच कर पैसे भी कमाए जाते हैं और साथ ही आप पर पर्सनल अटैक किया जा सकता है. इनमें आपके सोशल मीडिया अकाउंट हैक होने से लेकर बैंकिंग तक शामिल हैं.

हाल ही में इससे पहले भी सिक्योरिटी रिसर्चर्स ने गूगल को अगाह किया था कि कुछ क्रोम एक्स्टेंशन्स की वजह से यूजर्स की सिक्योरिटी प्रभावित हो रही है. इसके बाद ने गूगल ने कहा है कि कंपनी ऑफिशियल क्रोम वेब स्टोर से 70 ऐड ऑन्स हटा लिए थे.

ADVERTISEMENT