बोआरीजोर: वंशावली बनाने मे घुस लेता अंचल का प्रधान लिपिक एसीबी के हत्थे चढ़ा


युवा शक्ति
---------
गोड्डा: वंशावली बनाने के नाम पर घूस लेते अंचल कार्यालय बोआरीजोर का प्रधान लिपिक शभु मंडल एसीबी की टीम के  हत्थे चढ़ा। परिवादी बाबू मालतो के शिकायत पर एसीबी दुमका की टीम ने ₹3000 (घुस) लेने की बात के सत्यापन कर करवाई की है

क्या है मामला
शिकायतकर्ता बाबू मालतो पिता स्वर्गीय बदरा मालतो ग्राम कुसुम घाटी  थाना क्षेत्र राजभीट्ठा ने एसीबी से शिकायत किया था कि की पारिवारिक वंशावली बनाने के नाम पर बोआरीजोर अंचल का प्रधान लिपिक शंभु ₹10000 की मांग करता था। अपने लाचारी और गरीबी का हवाला देने के बाद लिपिक ने ₹3000 मे तयार हुआ था। पैसों के साथ आरोपी शंभु ने बाबू मालतो को शुक्रवार के दिन अंचल कार्यालय बुलाया था। इससे पहले रुपया लेने देने की बात का सत्यापन एसीबी के पुलिस उपाधीक्षक जोना योगेंद्र मुर्मू द्वारा पूरी करने के बाद भ्रनिब्यूरो दुमका में कांड संख्या 5/2020 अंकित किया था तत्पश्चात टीम को बोअरिजोर भेजा गया था। शुक्रवार को टीम परिवादी के साथ सामान्य वेशभूषा में लिपि के पास पहुंची जहां ₹3000 लेते हुए उसे रंगनाथ दबोचा गया। एसीबी की टीम करवाई के तुरंत बाद उसे अपने साथ दुमका ले गई है जहां आरोपी से पूछताछ की बात कही गई।

सनद रहे कि यहाँ राजमहल परियोजना मे जमीन के बदले नौकरी और मुआवजा प्राप्त होती है जिसमे वंशावली अहम कड़ी है। वंशावली के आधार पर ही परियोजना प्रबंधक लोगों को मुआवजा और नौकरी देती है। यहां 5 मिलियन की एक नई परियोजना 'हुर्रासी' के जमीन अधिग्रहण का काम चल रहा है जिसको लेकर राजभीट्ठा के ओर के भू-स्वामी अपना वंशवृक्ष प्रमाणपत्र और अन्य जरूरी दस्तावेज तैयार कराने मे लगे है।

ADVERTISEMENT