लालू के पैर पर गिरकर समर्थन मांगने आए थे नीतीश कुमार, तेजस्‍वी ने बोला बड़ा हमला


रांची: चारा घोटाले के आरोप में सजायाफ्ता अपने पिता बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद का जन्मदिन मनाकर यहां से लौटने के पहले बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को निशाने पर लिया। कहा कि 2015 में लालू प्रसाद भ्रष्टाचारी नहीं थे, इसलिए नीतीश कुमार उनके पैरों पर गिर  समर्थन लेने आए थे।

उन्होंने नीतीश कुमार पर घटिया राजनीति का आरोप लगाते हुए कहा कि बिहार में सरकार उनकी है। 2015 में उनको बताना चाहिए था कि वे लालू प्रसाद के साथ क्यों थे या भाजपा का साथ क्यों छोड़ा था? आरोप लगाया कि इसपर नीतीश कुमार मौन साध जाते हैैं। बिहार के मुख्यमंत्री घर से बाहर नहीं निकल रहे हैं जबकि झारखंड के मुख्यमंत्री रोज बाहर निकलकर काम रहे हैं।


बिहार में चुनाव पर उन्होंने कहा कि लोकसभा के बाद उपचुनाव हुए थे। लगभग सभी सीटों पर राजद चुनाव जीती थी। उस समय राजद और कांग्रेस को लेकर अन्य विपक्षी दल अलग थे। नतीजा सबके सामने है। जमीनी हकीकत सबको मानना होगा। बिहार की स्थिति भयावह होने वाली है। रोज लोगों की मौत हो रही है। राज्य सरकार सबको रोजगार कैसे दिलाएगी, इसकी चिंता नहीं है। 

कृषि मंत्री बादल ने मुलाकात की

बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव से झारखंड सरकार के कृषि मंत्री बादल ने मुलाकात की। गौरतलब है कि बादल ने लालू प्रसाद को पैरोल पर रिहा करने के पक्ष में मुहिम छेड़ी थी। उन्होंने तेजस्वी यादव को विभागीय कामकाज के बारे में जानकारी दी।

ADVERTISEMENT