उइगरों के पक्ष में उतरे ट्रंप, चीनी अधिकारियों पर बैन का कानून बनाया


अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को एक विधेयक पर हस्ताक्षर किया जो चीनी अधिकारियों के खिलाफ प्रतिबंध लगाने की अनुमति देता है. उइगर समुदाय के खिलाफ चीन की कार्रवाई को देखते हुए राष्ट्रपति ट्रंप ने इस विधेयक को हरी झंडी दी है.

विधेयक में पश्चिमी शिनजियांग क्षेत्र में उइगरों और अन्य जातीय समूहों के खिलाफ कार्रवाई करने वाले चीनी अधिकारियों पर प्रतिबंध शामिल हैं. यह कानून किसी भी देश की ओर से चीन को कठोर कार्रवाई के लिए दंडित करने की सबसे महत्वपूर्ण पहल का रास्ता साफ करता है जिसमें एक लाख से अधिक लोगों (उइगर) को कठोर परिस्थितियों में कैंपों में हिरासत में रखा गया है. इस विधेयक के बाद चीन और अमेरिका में तनाव और बढ़ सकता है जो काफी पहले से चलता आ रहा है.

अमेरिकी कांग्रेस ने थोड़ा विरोध के साथ इस विधेयक को पारित किया. ट्रंप ने बुधवार को बिना किसी बड़े समारोह के इस विधेयक पर हस्ताक्षर किए, क्योंकि विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ एक वरिष्ठ चीनी राजनयिक से मिलने के लिए हवाई में थे. ट्रंप ने विधेयक पर हस्ताक्षर करने के बाद कहा कि उइगर ह्यूमन राइट्स पॉलिसी एक्ट 2020 वैसे लोगों की जिम्मेदारी तय करेगा जो मानवाधिकारों का उल्लंघन करेंगे.

विशेषज्ञों के मुताबिक, यह विधेयक विशिष्ट चीनी अधिकारियों पर प्रतिबंधों को लागू करेगा, जैसे कि कम्युनिस्ट पार्टी के अधिकारी जो शिनजियांग में सरकारी नीति की देखरेख करते हैं.

ADVERTISEMENT