बंगाल की तेलनीपाड़ा हिंसा : हालात सामान्य, हिंसा फैलाने के आरोप में अबतक 54 गिरफ्तार


पश्चिम बंगाल के हुगली जिले के तेलनीपाड़ा में रविवार की रात से दो गुटों के बीच शुरू हुई हिंसा बुधवार को कुछ हद तक काबू में दिखी। इस मामले में अब तक पुलिस ने 54 उपद्रवियों को हिरासत में लिया है।  चंदननगर कमिश्नटे के पुलिस आयुक्त हुमायूं कबीर का कहना है फिलहाल तेलनीपाड़ा इलाके  के चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल को तैनात रखा गया है। वह खुद तेलीपाड़ा पुलिस कैंप में बैठकर घटना पर नजर रखे हुए हैं। दूसरी ओर चंदननगर कमिश्नरेट इलाके में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है।

मालूम हो कि कल तेलनीपाड़ा स्थित गोंदलपाड़ा, बाबू बाजार, शगुन बागान, तांती पाड़ा आदि इलाके में कल दोपहर उपद्रवियों ने जमकर बमबाजी की थी। जबकि दर्जनों दुकानें एवं घरों में तोड़फोड़ करके उसे आग के हवाले कर दिया था। तेलीपाड़ा में हुई हिंसक वारदात के विरोध में बुधवार को भाजपा सांसद लाॅकेट चटर्जी एवं अर्जुन सिंह ने हुगली जिला अधिकारी कार्यालय के बाहर धरना दिया। उनका कहना है वे तेलनीपाड़ा के विषय पर जिलाधिकारी वाई रत्नाकर राव से मिलने गये थे। लेकिन डीएम ने उनसे मुलाकात नही की। भाजपा की सांसद लाॅकेट चटर्जी ने कहा, तेलनीपाड़ा में फैली हिंसा की घटना पुलिस की नाकामी है। पुलिस चाहती तो रविवार की रात को ही हिंसक वारदात पर काबू पाया जा सकता था। लेकिन पुलिस ने ऐसा नहीं किया। जिसके कारण आज तेलीपाड़ा जल रहा है और जब तक चंदननगर कमिश्नटे के पुलिस आयुक्त हुमायूं कबीर रहेंगे तब तक यहां की हालात ठीक नहीं हो पाएगी। उन्होंने सीपी को तत्काल हटाने की मांग की।

भाजपा की सांसद लाॅकेट चटर्जी  ने कहा कि पिछले चार दिनों से वह चंदननगर के पुलिस कमिश्नर को फोन कर रही है लेकिन वह फोन को नहीं पकड़ रहे हैं जबकि  उन्होंने इस विषय पर जिला अधिकारी से भी बात करने की कोशिश की। लॉकेट चटर्जी ने तेलीपाड़ा के मामले में उन्होंने  पुलिस की भूमिका पर प्रश्न उठाया और कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देश पर ही पुलिस उपद्रवियों के प्रति नरम रुख अपना रही है।

ADVERTISEMENT