माॅब लिंचिंग: मामले में तीन गिरफ्तार



युवा शक्ति दुमका ब्यूरो
वीरू कुमार दास
---------------------

दुमका: लाकॅ डाउन के बीच बकरी चोरी के आरोप में मॉब लिंचिंग की घटना में शामिल तीन लोगों को मंगलवार देर शाम को पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। गिरफ्तार, आरोपी काठीकुंड थाना क्षेत्र के अर्जुन रजवार,मानत रजवार एवं बिरेन रजवार को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया। इसकी जानकारी एसपी अंबर लकड़ा ने दी उन्होंने बताया कि बीते सोमवार को बकरी चोरी के आरोप में हिंसक भीड़ ने पीट-पीटकर एक आरोपी की हत्या कर दी थी। वहीं घटना में शामिल एक अन्य आरोपी दुलाल मिर्धा गंभीर रूप से घायल हो गया। जो इलाजरत है इस मामले में पुलिस दोनों पक्षों पर 15 नामजद एवं अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज की है। 

मामला दर्ज मृतक की पत्नी खैरून बीबी के बयान पर काठीकुंड कांड संख्या 49/20 के तहत धारा 147,148,149,307 एवं 302 भादवि की धारा के तहत हत्या और चोरी का किया गया है। एसपी लकड़ा ने बताया कि पूरे मामले में जांच के लिए एसआईटी टीम गठित की गई है। जिसमें तीन थाना के थाना प्रभारी शामिल है टीम की अगवाई डीएसपी पूज्य प्रकाश कर रहे हैं। इनके अलावा केस के अनुसंधानकताॅ शिकारीपाड़ा थाना प्रभारी वकार हुसैन, काठीकुंड थाना प्रभारी शाकिब तनवीर खान एवं जरमुंडी थाना प्रभारी सत्यनारायण सिंह शामिल है। उन्होंने बताया कि डीएसपी घटनास्थल पर कैंप कर रहे हैं। साथ ही गांव में पुलिस बल तैनाती की गई है। एसपी लकड़ा ने बताया कि घटना के बाद तनाव जैसे कोई हालात नहीं है। पुलिस गांव के लोगों को कानून हाथ में नहीं लेने एवं कोरोना संक्रमण को लेकर लाकॅ डाउन का उल्लंघन नहीं करने की सख्ती हिदायत दी है।

 क्या है मामला
यहां बता दें कि हिंसक भीड़ की यह घटना बीती सोमवार दोपहर मे हुई थी। शिकारीपाड़ा थाना के द्वार पहाड़ी गांव के (30) वर्षीय सुमन अंसारी ढाका का गांव का (22) वर्षीय दुलाल मिर्धा एक किमी की दूरी पर स्थित काठीकुंड थाना क्षेत्र के झीलिमिली गांव गये थें स्थानीय ग्रामीणों का आरोप है कि दोनों चोरी-छिपे गांव के एक व्यक्ति की बकरी को उठाकर ले गए। गावं से बाहर दोनों युवक बकरी को काट कर खाल निकाल रहे थें। तभी उधर से गुजर रहे झिलिमिली गांव के कुछ युवकों की उन पर नजर पड़ी युवकों ने दोनों को घेर लिया और बकरी चोर कहकर शोर मचाते हुए हंगामा करना शुरू कर दिया। हंगामा सुनकर भीड़ जमा हो गई। इसके बाद दोनों को गांव लाकर लोगों ने पेड़ से बांध दिया और बुरी तरह पीटा। भीड़ की पिटाई में सुमन अंसारी और दुलाल मिर्धा गंभीर रूप से जख्मी हो गया। घटना की सूचना पाकर काठीकुंड पुलिस मौके पर पहुंची घायलों को रिचीं अस्पताल, काठीकुंड में भर्ती करवाया। यहां सुमन अंसारी ने दम तोड़ दिया। तथा दूसरा घायल दुलाल मिर्धा का प्राथमिक उपचार करा बेहतर इलाज के लिए दुमका रेफर किया। फीलहल दुमका मेडिकल कॉलेज  अस्पताल  में दुलाल मिधाॅ इवाजरत है!

ADVERTISEMENT