राहुल के आरोपों पर बीजेपी का पलटवार- ये सिर्फ सस्ती राजनीति, दोहरा चरित्र दिखा रही कांग्रेस


देश में जारी कोरोना संकट के बीच कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी में वार-पलटवार का सिलसिला भी जारी है. मंगलवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी सरकार को निशाने पर लिया, तो जवाब देने के लिए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने मोर्चा संभाला.

प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि देश इस वक्त कोरोना वायरस से लड़ रहा है और राहुल गांधी सस्ती राजनीति करने में जुटे हुए हैं. उन्होंने कहा कि अगर आज कोरोना के आंकड़े देखें तो डबलिंग रेट में बढ़ रहा है लेकिन मौत की संख्या बढ़ने की रफ्तार धीमी हुई है.

राहुल गांधी का जवाब देते हुए बीजेपी नेता ने कहा कि जब हमने लॉकडाउन लगाया था, तब भी उन्होंने आलोचना की थी. अब लॉकडाउन में ढील दी है तो भी आलोचना कर रहे हैं ये कांग्रेस का दोहरा रुप दिखाता है.

न्याय योजना को लेकर केंद्रीय मंत्री ने जवाब दिया कि केंद्र सरकार लगातार गरीबों को मुफ्त राशन दे रही है. प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि सरकार की ओर से पांच महीने का मुफ्त राशन दिया जा रहा है, गरीब महिलाओं को 500 रुपये प्रति महीने की मदद दी जा रही है और करोड़ों महिलाओं को एलपीजी गैस दी जा रही है.

राहुल गांधी के निशाने पर मोदी सरकार

गौरतलब है कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी की ओर से मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की गई थी. इस दौरान उन्होंने एक बार फिर कहा कि सरकार को मजदूरों के खाते में 7500 रुपये प्रति महीना की मदद देनी चाहिए. इतना ही नहीं, राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार की लॉकडाउन की रणनीति पूरी तरह से फेल रही है और अब सरकार को देश के सामने नई रणनीति बतानी चाहिए.

कांग्रेस नेता की ओर से आरोप लगाया गया कि सरकार ने जिस पैकेज का ऐलान किया गया है, उससे कोई फायदा नहीं हुआ है. अगर अब गरीबों के हाथों में पैसा नहीं दिया गया, तो अर्थव्यवस्था और भी चौपट हो जाएगी.


ADVERTISEMENT