ओडिशा में कल से दौड़ेंगी बसें और ट्रेन, सरकार ने दी हरी झंडी


ओडिशा सरकार ने सोमवार से राज्य के अंदर बसों के संचालन की अनुमति दे दी है. सोमवार से अब राज्य के अंदर बसें चल सकेंगी. चक्रवाती तूफान अम्फान के कारण कुछ दिनों के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन भी बंद था, जिसे सोमवार से शुरू कर दिया जाएगा.

ओडिशा में कोरोना वायरस संक्रमण और लॉकडाउन के कारण बसों की आवाजाही पर रोक लगी थी, जिसे 25 मई से शुरू किया जा रहा है. इसके बारे में स्पेशल रिलीफ कमिश्नर (एसआरसी) पीके जेना ने इंडिया टुडे को जानकारी दी. इसके साथ ही राज्य के अंदर 25 मई से ट्रेनों का संचालन भी शुरू होने जा रहा है. केंद्रीय गृह मंत्रालय और भारतीय रेल की ओर से जारी स्डैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) को ध्यान में रखते हुए ट्रेनों का संचालन शुरू किया जा रहा है.

कंटेनमेंट जोन को छोड़कर अन्य इलाकों में राज्य सरकार ने कई गतिविधियां संचालित करने की इजाजत दी है. टू-व्हीलर, प्राइवेट गाड़ियां, सरकारी गाड़ियां, टैक्सी (ओला-उबर की गाड़ियां), फोर-व्हीलर और ऑटो रिक्शा (ड्राइवर के अलावा दो सवारी की इजाजत) शुरू करने का फैसला किया गया है. सरकारी परिवहन, निजी गाड़ियां और टैक्सी को एयरपोर्ट, स्टेशन, बस टर्मिनस, स्टैंड या स्टॉप से सवारियों को लाने-ले जाने की इजाजत दी गई है.

हालांकि समूचे ओडिशा में जो लोग सफर करेंगे, उनके लिए कुछ खास नियम पालन करने की हिदायत दी गई है. मसलन, लोगों को फेस मास्क लगाने होंगे और जिनमें कोविड-19 के लक्षण पाए जाएंगे, उन्हें यात्रा की अनुमति नहीं होगी. ये नियम परिवहन के सभी साधनों पर एक समान लागू होंगे. यानी सरकारी या निजी वाहनों में इन सभी नियमों का पालन किया जाना अनिवार्य होगा.

चक्रवाती तूफान अम्फान के बाद ओडिशा में श्रमिक स्पेशल ट्रेन रोक दी गई थी जिसे फिर शुरू करने का फैसला लिया गया है. पीके जेना ने कहा कि शनिवार को तेलंगाना से ओडिशा के लिए 12 स्पेशल श्रमिक ट्रेन निकली हैं. हालांकि संबंधित राज्य की ओर से इस बारे में कोई विस्तृत सूचना नहीं दी गई है लेकिन हमें उम्मीद है कि तकरीबन 20 प्रवासी लोग प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में आएंगे. जेना ने कहा कि इस बारे में कोई सूचना नहीं मिलने से कोविड के प्रबंधन में दिक्कत आएगी.

ADVERTISEMENT