सुप्रीम कोर्ट में 13 मई से नया नियम, काम की रफ्तार बढ़ाने को लिया गया ये फैसला


सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में नया नियम लागू हो गया है. इस नियम के तहत शीर्ष अदालत में अब एक न्यायाधीश भी सुनवाई करेंगे. अब सुप्रीम कोर्ट में 13 मई से एकल पीठ का गठन किया जाएगा. जमानत, अग्रिम जमानत और केस को ट्रांसफर करने की याचिका पर सिंगल जज की बेंच सुनवाई करेगी. यह एकल पीठ जमानत और अग्रिम जमानत से जुड़ी उन याचिकाओं की सुनवाई कर पाएगी, जिनमें 7 साल से कम सजा का प्रावधान है.

अब तक सुप्रीम कोर्ट में एकल जज पीठ का प्रावधान नहीं था. यहां डिवीजन बेंच यानी कम से कम दो जजों की बेंच ही होती रही है लेकिन अब नई व्यवस्था लागू कर दी गई है. नई व्यवस्था सुप्रीम कोर्ट में काम की रफ्तार को बढ़ाने के लिए की गई है. सुप्रीम कोर्ट ने पहली बार इस व्यवस्था को लागू किया है. पिछले साल सितंबर में सुप्रीम कोर्ट ने नियमों में संशोधन किया गया था. सुप्रीम कोर्ट ये एकल पीठ जमानत, आपराधिक मामलों के ट्रांसफर, पिटीशन जैसी याचिकाओं की सुनवाई करेगी.

ADVERTISEMENT