अम्फानः सुंदरबन में त्वारित प्रतिक्रिया दल बाघों की गतिविधि पर नजर रखेंगे





कोलकाता: पश्चिम बंगाल में बुधवार को 'अम्फान' चक्रवात आने की संभावना के बीच वन विभाग ने मंगलवार को त्वारित प्रतिक्रिया दल गठित किए हैं जो सुनिश्चित करेंगे कि दक्षिण 24 परगना जिले के सुंदरबन के बाघ तूफान के दौरान भटकर पास की मानव बस्तियों में नहीं जाएं। मुख्य वन्यजीव वार्डन रवि कांत सिन्हा ने कहा कि विभाग ने जिले के गोसाबा इलाके में एक नियंत्रण कक्ष स्थापित किया है जो जंगल में 24 घंटे स्थिति की निगरानी करेगा। विभाग ने साल्ट लेक इलाके में केंद्रीय नियंत्रण कक्ष बनाया है जो गोसाबा इकाई से लगातार संपर्क में रहेगा और वन में वन्य जीव की गतिविधि पर करीब से निगाह रखेगा।सिन्हा ने बताया कि अगर बाघों ने अपने मूल अभयारण्य इलाके से निकल कर पास के गांव जाने की कोशिश की तो, हम इन नियंत्रण कक्षों के जरिए इसका पता लगा पाएंगे और हमारी त्वारित प्रतिक्रिया दल पशु को वापस भेजने के लिए कदम उठाएंगे। उन्होंने बताया कि सुंदरबन में बाघों की संख्या 96 है, जिनमें से 73 मूल अभयारण्य क्षेत्र में हैं जबकि 23 उसके आसपास के हिस्से में।

ADVERTISEMENT