टिकियापाड़ा में परिस्थिति नियंत्रण में परन्तु तनाव व्याप्त


हावड़ा : हावड़ा थाना के टिकियापाड़ा में पुलिस पर हमले को लेकर हावड़ा सिटी पुलिस ने कड़ी कार्रवाई करते हुए 14 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस की रात भर कार्रवाई चलती रही। इलाके में पुलिस बार-बार छापा मारती रही। सुबह होते ही एक बार फिर इलाके में तनाव व्याप्त हो गया। लोग एक बार फिर सड़क पर आ गये। पुलिस ने लोगों को रोकने के लिए बैरिकेडिंग कर दी फिर भी लोग अपने हरकतों से बाज नहीं आये। गौर करनेवाली बात यह रही कि इतना सबकुछ हो जाने के बावजूद बैरिकेडिंग कर मात्र तीन पुलिसकर्मियों को वहां तैनात कर दिया गया था और वे  भी ट्रैफिक पुलिस के जवान थे।

दोपहर एक बजे के करीब एक बार फिर भारी संख्या में रैफ के जवान व अन्य पुलिसकर्मियों ने फ्लैग मार्च किया। लोगों में व्याप्त भय को दूर करने के लिए पुलिस कर्मी एक बार फिर सड़कों पर आये।


हावड़ा सिटी पुलिस ने पुलिसकर्मियों पर हमला, पुलिस की गाड़ी में तोड़़फोड़ व थाने पर हमले का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
हावड़ा सिटी पुलिस के डीसी सेंट्रल जेबी थामस ने कहा कि पुलिस ने कार्रवाई करते हुए अबतक 14 लोगों को गिरफ्तार किया है। सीसीटीवी फुटेज की मदद ली जा रही है।

ज्ञात हो कि मंगलवार को लाकडाउन तोड़ रहे युवकों पर कार्रवाई करने के विरोध में टिकियापाड़ा के लोगों ने पुलिस पर जानलेवा हमला कर दिया था। इस घटना में  रैफ की दो महिला पुलिस समेत चार पुलिसकर्मी
गंभीर रूप से घायल हो गये थे।  

मंत्री ने कहा : दूसरी ओर राज्य सरकार के एक मंत्री अरूप राय ने ऐसे समय में भी राजनीति करना नहीं भूले। उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कह दिया किया यह तो मामूली घटना है और एक षड़यंत्र के तहत घटना को अंजाम दिया गया है।

भाजपा ने क्या कहा :  हावड़ा जिला भाजपा के अध्यक्ष सुरजीत साहा ने कहा कि इस घटना से यह सिद्ध होता है कि बंगाल में कानून व्यवस्था खत्म हो चुकी है। उन्होंने कहा कि अगर पुलिस पर हमला छोटी घटना है तो क्या मंत्री पर हमला या उनकी गाड़ी में तोड़फोड़ बड़ी घटना होगी।