PM संग चर्चा में नहीं शामिल हुए केरल CM, कार्यालय ने बताया- क्यों जरूरी नहीं लगा


कोरोना वायरस महामारी के संकट के बीच आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक कर रहे हैं. इस बैठक में लॉकडाउन पर आगे की रणनीति को लेकर चर्चा होनी है. लेकिन इस महाबैठक में केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन शामिल नहीं हुए हैं. उनकी ओर से राज्य के चीफ सेक्रेटरी बैठक में हिस्सा ले रहे हैं.

जब इसको लेकर सवाल उठे तो केरल मुख्यमंत्री के कार्यालय की ओर से सफाई पेश की गई. बयान में कहा गया कि हमें कहा गया था कि पिछली दो बैठकें काफी अहम हैं, क्योंकि कोरोना को रोकने के लिए विचार करना है. लेकिन इस बार हमें कहा गया कि नॉर्थ ईस्ट और अन्य राज्यों पर फोकस रहना है.

मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा कि इसलिए केरल के मुख्यमंत्री का बैठक में हिस्सा लेना अनिवार्य नहीं था. इसलिए केरल के चीफ सेक्रेटरी इस बैठक में हिस्सा ले रहे हैं. आपको बता दें कि केरल में बीते कुछ दिनों में कोरोना वायरस के मामलों में कमी आई है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, केरल में सोमवार तक 458 कोरोना वायरस के मामले सामने आ चुके हैं. जबकि यहां राज्य में अबतक 4 लोगों की मौत हो चुकी है. राहत की बात ये है कि राज्य में अबतक 300 से अधिक लोग कोरोना वायरस को मात देकर ठीक हो चुके हैं.

आपको बता दें कि सोमवार को कोराना वायरस महामारी और लॉकडाउन के मसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक कर रहे हैं. इस बैठक में 3 मई के बाद की रणनीति पर चर्चा होगी, साथ ही मौजूदा हालात को परखा जाएगा. देश में 24 मार्च के बाद से ही लॉकडाउन लागू है, जिसकी अवधि 3 मई को खत्म होगी.