'बिहार में भुखमरी के कगार पर लाखों परिवार, नीतीश सरकार ने केंद्र को नहीं भेजी लिस्ट'


बिहार सरकार की एक और लापरवाही सामने आई है. दरअसल, केंद्र सरकार ने बिहार सरकार से अतिरिक्त राशन कार्ड धारकों की लिस्ट मांगी थी, जो अभी तक राज्य की ओर से नहीं आई है. लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के सांसद चिराग पासवान ने नीतीश सरकार की लापरवाही को लेकर शुक्रवार को एक के बाद एक कई ट्वीट किए हैं.

सांसद चिराग पासवान ने लिखा, '14 लाख बिहारियों का नाम बिहार सरकार को राशन कार्ड धारकों की सूची में जोड़ना था, ताकि उन्हें भी केंद्र सरकार द्वारा अतिरिक्त राशन का लाभ मिल सके. प्रदेश सरकार ने अभी तक नाम केंद्र को नहीं भेजा, जिससे बिहार में कई परिवार में भुखमरी की स्थिति है.

'चिराग पासवान ने कहा, 'लॉकडाउन में केंद्र सरकार ने तमाम प्रदेशों से बचे हुए लगभग 39 लाख राशन कार्ड धारकों की सूची जल्द भेजने को कहा है, जिसमें 14.5 लाख बिहार के लाभार्थी हैं. केंद्र के निरंतर प्रयासों के बाद भी बिहार सरकार ने अभी तक सूची नहीं भेजी है, जिसके कारण लगभग 14.5 लाख बिहारवासियों को राशन मुहैया करने में परेशानी बनी हुई है.

नीतीश सरकार से अपील करते हुए चिराग पासवान ने कहा, '‪कई साथी जिनका नाम राशन कार्ड लिस्ट में नहीं है, वह काफी दिक्कत में हैं. बिहार में लगभग 14.5 लाख लोगों को इससे जोड़ा जाना है, लिस्ट न मिलने से उन्हें राशन का लाभ नहीं मिल पा रहा है. मुझे विश्वास है जल्द सीएम नीतीश कुमार इस पर कदम उठाएंगे.'

दरअसल, लॉकडाउन में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत राशन कार्ड धारकों में राशन बंटना है, लेकिन कई लोगों का राशन कार्ड ही नहीं था. इसके बाद केंद्र सरकार ने कई राज्यों से अतिरिक्त राशनकार्ड धारकों की लिस्ट मांगी थी, ताकि उनके हिस्से का खाद्यान्न राज्यों को भेजा जा सके.