कोरोना वायरस की बढ़ी रफ्तार, रोज एक लाख नए लोग हो रहे हैं शिकार


कोरोना वायरस ने दुनियाभर के कई देशों को संकट में डाल दिया है. चीन के वुहान से शुरू हुए कोरोना वायरस के मामले यूरोप, अमेरिका, ब्रिटेन जैसे तमाम देशों में तेजी से बढ़ रहे हैं. कोरोना का कहर भारत में भी शुरू हो गया है. इस वैश्विक महामारी की चपेट में दुनियाभर के करीब 7 लाख से ज्यादा लोग हैं, जबकि 33 हजार अपनी जान गंवा चुके हैं.

इस खतरनाक महामारी से दुनियाभर में 19 जनवरी तक 100 लोग प्रभावित थे, लेकिन 29 मार्च तक ये आंकड़ा 7 लाख के पार पहुंच गया है. ये महामारी दुनिया में कितनी तेजी से बढ़ी, इसका अंदाजा आंकड़ों से ही साफ हो जाता है.

पूरी दुनिया में 19 जनवरी तक कोरोना के जहां सिर्फ 100 मामले थे, वहीं, 24 जनवरी तक आंकड़ा 1000 पहुंच गया. इसके बाद 31 जनवरी को दस हजार, 6 मार्च को एक लाख, 18 मार्च को दो लाख, 21 मार्च को 3 लाख, 24 मार्च को 4 लाख, 26 मार्च को 5 लाख, 28 मार्च को 6 लाख और 29 मार्च तक 7 लाख ज्यादा लोग कोरोना संक्रमित पाए जा चुके हैं.अमेरिका में एक लाख से ज्यादा लोग संक्रमित

इटली में कोरोना वायरस से मरने वालों का आंकड़ा 10 हजार के पार पहुंच चुका है. इतालवी अधिकारियों ने रविवार को कहा कि वे कोरोना वायरस की महामारी को रोकने के लिए लॉकडाउन का विस्तार कर सकते हैं. इधर, अमेरिका में एक लाख से ज्यादा लोग कोरोना से संक्रमित हैं.

फ्रांस-स्पेन में दो हजार से ज्यादा मौतें

कोरोना वायरस के संक्रमण से जिन देशों में अब तक 2000 से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं, उनमें फ्रांस भी शामिल है. कोरोना के प्रकोप से फ्रांस में अब तक 2300 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है. वहीं, स्पेन में इटली के बाद सबसे ज्यादा मौतें हुई हैं. स्पेन में 6 हजार से अधिक लोग कोरोना के कारण मर चुके हैं.कोरोना के पहले मरीज की पहचान हुई

दुनिया में कोरोना वायरस के पहले मरीज के तौर पर चीन की 57 साल की एक महिला की पहचान हुई है. जो चीन के वुहान में झींगा बेचती थी. इसका नाम वेई गुइजियान है और इसे पेशेंट जीरो बताया जा रहा है. पेशेंट जीरो उस मरीज को कहते हैं, जिसमें सबसे पहले किसी बीमारी के लक्षण देखे जाते हैं. हालांकि कोरोना के पेशेंट जीरो में अब वायरस की मौजूदगी खत्म हो चुकी है.

कोरोना के पहले मरीज की पहचान हुई

दुनिया में कोरोना वायरस के पहले मरीज के तौर पर चीन की 57 साल की एक महिला की पहचान हुई है. जो चीन के वुहान में झींगा बेचती थी. इसका नाम वेई गुइजियान है और इसे पेशेंट जीरो बताया जा रहा है. पेशेंट जीरो उस मरीज को कहते हैं, जिसमें सबसे पहले किसी बीमारी के लक्षण देखे जाते हैं. हालांकि कोरोना के पेशेंट जीरो में अब वायरस की मौजूदगी खत्म हो चुकी है.