किन्नर पाखी साव ने कोरोना से लड़ने के लिए दिए एक लाख एक हजार रुपए


सिंगूर: कोरोना के आतंक के कारण पूरे देश में लॉक डाउन चल रहा है। इसके कारण अनेकों कल कारखाने बंद हो गए हैं। कई लोगों की रोजी-रोटी उसे छीन गई है। कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग केतृतीय लिंग के पाखी साव ने कोरोना से लड़ने के लिए दिए एक लाख एक हजार रुपए तृतीय लिंग के पाखी साव ने कोरोना से लड़ने के लिए दिए एक लाख एक हजार रुपए  प्रति लोगों को सचेत किया जा रहा है। लेकिन इसी सोशल डिस्टेंसिंग की बीच लोग एक-दूसरे की मदद को आगे भी आ रहे हैं। हुगली जिले के सिंगूर के जलागाटा इलाके की निवासी और तृतीय लिंग से संबंधित पाखी साव ने कोरोना का मुकाबला करने के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में शनिवार को एक लाख एक हजार रुपए का दान दिया। 

रविवार को पाखी साव ने बताया कि चूँकि वे तृतीय लिंग से संबंधित हैं। इसलिए लोगों के घरों में जब बच्चे का जन्म होता है तो वे नाच गाकर बच्चे और उसके परिवार के लोगों की मंगल कामना करती हैं और यही करके वह धन कमाती हैं। यही उनका मुख्य पेशा है। कई बार तृतीय लिंग का होने के कारण उन्हें उपहास का भी सामना करना पड़ता है। लेकिन कोरोना के संकट को देखते हुए उन्होंने लोगों के साथ इस मुश्किल घड़ी में खड़े होने का निर्णय लिया। इसलिए वे शनिवार को सिंगुर के एक्सिस बैंक के कार्यालय में गईं और बैंक मैनेजर के हाथ में एक लाख एक हजार रुपये का चेक दिया जिसे वे मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा करवाएंगे। इस दौरान पाखी राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की भी प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि कोरोना से लड़ने के लिए ममता बनर्जी ने खुद सड़कों पर उतरकर एक उदाहरण पेश किया है। उन्होंने अन्य लोगों को भी आह्वान किया कि वे कोरोना से लड़ने के लिए आगे आएं और दिल खोल कर लोगों की मदद करें।