About Me

header ads

फिल्म 'तान्हाजी' को लेकर महाराष्ट्र में सियासत तेज


फिल्म 'तान्हाजी, द अनसंग वॉरियर' रिलीज के पहले हफ्ते में ही 100 करोड़ से ज्यादा का कारोबार करने वाली साल की पहली फिल्म बन गई है. एक तरफ 'तान्हाजी' 100 करोड़ के क्लब में शामिल हो गई है तो दूसरी तरफ महाराष्ट्र के इस वीर मराठा सरदार की कहानी पर बनी फिल्म को उत्तर प्रदेश सरकार ने सबसे पहले टैक्स फ्री कर दिया. इसके बाद हरियाणा सरकार ने भी फिल्म को टैक्स फ्री करने की घोषणा कर दी. राजनीति के जानकारों का कहना है कि योगी सरकार के इस कदम के बाद शिवसेना पर 'तान्हाजी' को टैक्स फ्री करने का दबाव बढ़ गया है.

महाराष्ट्र की राजनीति पर पैनी नजर रखनेवाले राजनीतिक विश्लेषक अभय देशपांडे के अनुसार, 'शिवसेना के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार को पहले ही फिल्म तान्हाजी के बारे में फैसला लेना चाहिए था. लेकिन, जिस तरह से सरकार अभी ठीक से काम करना भी शुरू नहीं कर पाई है, उससे लगता है कि इस मसले पर भी चूक हो गई. शायद, कौन सा मंत्रालय फिल्म तान्हाजी को टैक्स फ्री करने प्रस्ताव कैबिनेट के पास भेजे, इसको लेकर भी भ्रम बना रहा और भाजपा की राज्य इकाई की मांग के बावजूद इसपर फैसला नहीं हो सका.'

भाजपा शासन वाले दो राज्यों द्वारा तान्हाजी के संघर्ष पर बनी फिल्म को टैक्स फ्री करने को लेकर महाराष्ट्र में भी सरगर्मी जारी है. कांग्रेस नेता से लेकर महाराष्ट्र के डिब्बावाला एसोसिएशन ने भी मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मराठा सरदार और शिवाजी के सहयोगी रहे तान्हाजी पर बनी इस फिल्म को टैक्स फ्री करने की मांग की है. मराठा अस्मिता की राजनीति करनेवाली शिवसेना पर इस बात को लेकर चौतरफा दबाव बन रहा है कि वह 'तान्हाजी' को टैक्स फ्री करे.