भारत से दूसरे देश में खेलने के लिए तैयार हुआ पाकिस्तान, PCB ने कहा- नहीं दी धमकी


पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के मुख्य कार्यकारी (सीईओ) वसीम खान ने शनिवार को संकेत दिए कि यदि खेल की महाद्वीपीय संस्था अनुमति दे तो एशिया कप में भारत के लीग मैच तटस्थ स्थल पर हो सकते हैं. हालांकि, पहले खबरें आ रही थीं कि वसीम खान ने धमकी दी है कि अगर भारत एशिया कप खेलने के लिए पाकिस्तान नहीं आता है तो पाकिस्तानी टीम भी 2021 में भारत में होने वाले टी-20 विश्व कप में भाग लेने से इन्कार कर देगी.

पाकिस्तान को इस साल सितंबर में एशिया कप टी-20 टूर्नामेंट की मेजबानी करनी है, लेकिन मौजूदा राजनैतिक माहौल को देखते हुए भारत की भागीदारी पर संदेह बना हुआ है. यह कहते हुए कि इसका फैसला एशियाई क्रिकेट परिषद (एसीसी) करेगी, पीसीबी के सीईओ ने यह भी स्पष्ट किया कि उन्होंने कभी नहीं कहा कि यदि भारत एशिया कप में नहीं खेलेगा तो वह 2021 में होने वाले टी-20 विश्व कप में नहीं खेलेंगे, जिसकी मेजबानी भारत करेगा, क्योंकि यह एक आइसीसी का टूर्नामेंट है. वसीम खान ने कहा, "सवाल यह है कि यदि भारत पाकिस्तान का दौरा नहीं करता है तो क्या होगा? मेरी प्रतिक्रिया पर एसीसी को फैसला लेने की जरूरत है, लेकिन जब से हमें मेजबानी के अधिकार दिए गए हैं, हम पूरी तरह से एशिया कप को पाकिस्तान में आयोजित करने की उम्मीद कर रहे हैं. एसीसी को तब यह फैसला करने की जरूरत होगी कि भारत के मैच कहां खेले जाएंगे."

जब यह पूछा गया कि भारत अपने मैच तटस्थ स्थल पर खेल सकता है तो खान ने सकारात्मक प्रतिक्रिया देते हुए कहा, "शायद. यदि भारत और पाकिस्तान के बीच फाइनल होता है तो यह एसीसी पर निर्भर करता है कि वह फैसला करे कि फाइनल कहां खेला जाएगा. अभी तक प्रारूप और कार्यक्रम को लेकर अभी तक कोई अंतिम चर्चा नहीं हुई है, लेकिन यह एसीसी का फैसला होगा." खान ने पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित उन खबरों का जोरदार खंडन किया जिनमें कहा गया कि पीसीबी 2021 में भारत में टी-20 विश्व के लिए अपनी टीम नहीं भेजेगा.

पीसीबी के सीईओ ने कहा, "ऐसा बिल्कुल नहीं है. हमने कभी भी किसी भी स्तर पर यह नहीं कहा कि पाकिस्तान भारत का दौरा नहीं करेगा। बातचीत का संदर्भ एशिया कप के बारे में था, जिसकी मेजबानी हमें पहले ही मिल चुकी है और हम इस साल सितंबर में इसकी मेजबानी करने वाले हैं. जो मैंने कहा था वह यह है कि हमें भारत में 2021 टी-20 विश्व कप के लिए अपने खिलाडि़यों की सुरक्षा के बारे में आश्वस्त होने की जरूरत है. यानी, यदि हमें वीजा दिया जाता है तो, लेकिन मैंने कभी नहीं कहा कि हम टी-20 विश्व कप से खुद को अलग कर लेंगे। टी-20 विश्व कप आइसीसी का टूर्नामेंट है और यह कहना पूरी तरह से गलत होगा कि यदि भारत एशिया कप खेलने के लिए नहीं आता है तो हम विश्व कप से हट जाएंगे."