About Me

header ads

राजस्थान में प्रशासन की पहल पर छात्राएं बनी एक दिन की कलेक्टर और एडीएम


अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर जयपुर जिला प्रशासन ने बालिका शिक्षा को प्रोत्साहित करने के लिहाज से छात्राओं को एक दिन के लिए कलेक्टर और अतिरिक्त जिला कलेक्टर (एडीएम) की कुर्सी पर बिठाया.

कलेक्टर के रूप में छात्रा ने दिए सुझाव पेटी रखवाने के निर्देश

जयपुर जिला कलेक्टर जगरूप सिंह यादव की कुर्सी पर 12वीं कक्षा की छात्रा भारती मावर बैठी वहीं जिला प्रशासन में तैनात चार एडीएम की कुर्सियों पर क्रमश: शादमा, भारती वर्मा, कोमल गुप्ता और लक्षिता शर्मा बैठीं. कलेक्टर की कुर्सी पर बैठी भारती मावर ने जिला कलेक्टर कार्यालय के बाहर सुझाव पेटी रखवाने के लिए कहा. इस पेटी में लोग जिले में कराए जाने वाले विकास कार्यो सहित अन्य मुद्दों को लेकर अपने सुझाव लिखित में डाल सकेंगे. स्कूलों में भी इसी तरह की सुझाव पेटी रखने, स्कूलों में बालिका शौचालय अलग से होने एवं उनमें साबुन की व्यवस्था को लेकर भारती मावर ने निर्देश दिए.

शराब की दुकानों पर हो सख्त कार्रवाई और बाल विवाह रोकने के दिए निर्देश

कलेक्टर की कुर्सी पर बैठी छात्रा ने शराब की दुकानें रात 8 बजे बाद खुलने पर सख्त कार्रवाई होने, स्कूलों के पास शराब, चाय और पान की दुकानें नहीं खुलने देने और बाल विवाह रोकने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में सामाजिक जागरूकता अभियान चलाए जाने के भी निर्देश दिए.

एडीएम बनी छात्रा ने गरीबी-अमीरी का भेदभाव मिटाने के लिए दिए निर्देश

छात्रा ने कहा कि शराब से घरेलू हिंसा बढ़ती है। गरीब वर्ग में अशिक्षा के चलते आमदनी का अधिकांश हिंसा शराब में ही खर्च होता है. एडीएम बनी लॉ स्टूडेंट भारती वर्मा ने कहा कि समाज में गरीबी और अमीरी का भेदभाव मिटाने को लेकर प्रशासन को अभियान चलाना चाहिए.

महिलाएं आज के समय में चेंज मेकर हैं

इस मौके पर जिला कलेक्टर जगरूप सिंह यादव ने कहा कि महिलाएं आज के समय में चेंज मेकर हैं. छात्राओं को पढ़ाई करके खुद के साथ ही परिवार और समाज को सुधारना चाहिए। कलेक्टर और एडीएम बनी छात्राओं ने जनसुनवाई भी की.

लाडली रक्त सेवा- बालिकाओं को बगैर रिप्लेसमेंट के रक्त

राजस्थान में 14 साल से कम उम्र की बालिकाओं को बगैर रिप्लेसमेंट के रक्त मिलेगा. राज्य के चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने शुक्रवार को अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर इसकी घोषणा की. शर्मा ने बताया कि 14 साल से कम उम्र की बालिकाओं को बिना रिप्लेसमेंट के रक्त उपलब्ध कराने के लिए लाडली रक्त सेवा स्कीम शुरू की गई है. इस स्कीम के तहत प्रदेश के सभी सरकारी अस्पतालों एवं ब्लैड बैंकों में बिना रिप्लेसमेंट के रक्त मिलेगा.

उन्होंने बताया कि कैंसर पीड़ित बच्चों के लिए भी बिना रिप्लेसमेंट के रक्त मिलेगा। इसके लिए सरकार ने सभी मेडिकल कॉलेजों के प्रिंसिपल और जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिए गए है.